एडीजे ने राहगीरों और श्रमिकों को बांटा गुड़-चना,पैरा लीगल वॉलेंटियर्स ने भी दिया साथ

सतना/पुष्पराज सिंह बघेल

आमतौर पर जज अंतर्मुखी माने जाते हैं व सामाजिक गतिविधियों से भी ये दूर रहना पसंद करते हैं। ऐसे में कोई जज अगर बीच सड़क प्रवासी मजदूरों को चना-गुड़ बांटते दिख जाए तो अचरज होना स्वाभाविक है। मध्य प्रदेश के सतना में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश डीपी मिश्रा ने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के बैनर तले राह चलते अप्रवासी मजदूरों को गुड़-चना, सत्तू और लाई-बिस्किट बांटे।

एक जज द्वारा लोगों ने प्रवासी मजदूरों को गुड़-चना, सत्तू जैसे एनर्जेटिक फ़ूड बांटते देख तो हर कोई हैरत में था। दरअसल, जज के बारे धारणा है कि वो ज्यादा समाज में लोगों से घुलते मिलते नहीं हैं। मगर आज सार्वजनिक तौर पर यूं लोगों को गुड़-चना बांटना अचरज जैसा ही था। सतना के अतिरिक्त जिला सत्र न्यायाधीश डीपी मिश्रा ने स्टेट हाइवे-11 यानि चित्रकूट रोड पर आने-जाने वाले प्रवासी श्रमिकों को एनर्जेटिक फ़ूड बांटे। एडीजे डीपी मिश्रा ने बताया कि जिला विधिक प्राधिकरण के बैनर तले आने-जाने वाले प्रवासी श्रमिकों को एनर्जेटिक फ़ूड बांटा गया है। इस काम में पैरा लीगल वॉलेंटियर भी लगे हैं।