उफनते पानी से गुजरने की मजबूरी, नेशनल हाइवे-75 पर जाम से बने हालात

सतना| पुष्पराज सिंह बघेल| मध्य प्रदेश के सतना में निर्माणधीन पुल पिछले कई दिनों से राहगीरों के लिए अग्निपथ बना हुआ है। सतना नागौद रोड के नेशनल हाइवे-75 पर सतना नदी के पुल पर जाम लगने से लोग खतरा मोल लेने से भी नहीं चूके रहे। पुल पर 5 से 6 किलामीटर का लम्बे जाम के झाम से निजात नहीं मिली तो लोग पानी से उफनते रपटे और पुल से ही गुजरने को मजबूर होने लगे। लोगों ने यह भी नहीं सोंचा कि यह दुःसाहस उनके लिए आत्मघाती भी हो सकता है।

दरअसल, सतना नागौद हाइवे पर बना सतना नदी का पुल छतिग्रस्त  और संकरा है जिस पर निर्माण कार्य चल रहा है लिहाजा यहां आये दिन जाम की झाम बनी रहती है यातायात वयवस्था के अभाव में लोगो को जान का जोखिम उठाना पड़ता है।आज कुछ ऐसा ही नजारा दिखा जब NH75 पुल पर लम्बा जाम लगा रहा तब लोग पुल और रपटे पर पैदल तो गाड़ियां लेकर निकलते रहे निकलने वालों की संख्या एक दो नही बल्कि सैकड़ो की तादात में थी। जोखिम भरा कदम राहगीर की मजबूरी थी जिसपर जिला प्रशासन के सुरक्षा के इंतजाम नादरत थे।इस मामले को जब बी जे पी संसाद गणेश सिंह के संज्ञान में लाया गया तो वो भी इस मामले से पूरी तरह वाकिफ है और इस पर ठेकेदार की लापरवाही बता रहे जिसने समय बीत जाने पर भी काम पूरा नही किया लेकिन इन सब के बावजूद उस पर कार्यवाही अब तक क्यो नही की गई। बस वही रटा रटाया जबाव की कार्यवाही करेंगे व्यवस्थाएँ होंगी।आखिर कब ये सवाल अभी भी खड़े है।

उफनते पानी से गुजरने की मजबूरी, नेशनल हाइवे-75 पर जाम से बने हालात उफनते पानी से गुजरने की मजबूरी, नेशनल हाइवे-75 पर जाम से बने हालात उफनते पानी से गुजरने की मजबूरी, नेशनल हाइवे-75 पर जाम से बने हालात उफनते पानी से गुजरने की मजबूरी, नेशनल हाइवे-75 पर जाम से बने हालात