छावनी में बदला सतना बस स्टैंड, अवैध अतिक्रमण हटाने प्रशासन सख्त

सतना। जिला प्रशासन ने गुरुवार को भू माफियाओं के खिलाफ फिर सड़कों पर उतरा। जिला प्रशासन, नगर निगम, परिवहन और पुलिस बल की टीम बस स्टैंड पहुंची और यहां चिन्हित अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई की। जिला प्रशासन ने बस स्टैंड में बने बस एसोसिएशन  के दफ्तर के अवैध निर्माण को गिराने का प्रयास किया। जिसके विरोध में बस संचालक लामबंद हो गए। जमकर बहस हुई और बस संचलक  बसों के पहिये जाम कर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। जिससे यात्री हलाकान हैं। सतना बस स्टैंड पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। सैकड़ों जवानों का पहरा है और बसों के पहिये जाम है। 

दरअसल, जिला प्रशासन ने बस स्टैंड में अबैध कब्जे और अबैध निर्माण को चिन्हित कर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई  की। बस एसोसिएशन के कार्यालय को  जिला प्रशासन ने सील कर दिया। विरोध में बस एसोसिएशन सामने आया और सिटी मजिस्ट्रेट की नगर निगम अध्यक्ष के बीच जमकर बहस हुई । अतिक्रमण दस्ते ने दो दर्जन से ज्यादा अबैध निर्माण को ध्वस्त भी किया ऐसे में सब एसोसिएशन बसों के पहिये जाम कर दिए हैं। सहर से निकलने बाले सवारी बसों को रोक दिया गया है । तनाव का माहौल बना गया । परिवहन विभाग भी पहुंच चुका और परमिट समय पर बसों के आवाजाही बहाल क़रने की कोशिश कर रहा । परिवहन विभाग नाकाम है और यात्री परेशान है । 

हालांकि जिला प्रशासन की माने तो बस एसोसिएशन का दफ्तर पूरी तरह अबैध है। वही चिन्हित अन्य अतिक्रमण हटाया जाएगा । परिवहन विभाग भी बस एसोशिएसन की हड़ताल को अबैसंधानिक मान कर जल्द बसों की आवाजाही बहाल करने की वात कह रहा बहरहाल जिले में धारा 144 लागू है इसके वाबजूद बस एशोसिएसन हड़ताल पर हैं ।यात्री परेशान है और जिला प्रशासन अब बैक फुट पर नजर आ रहा । चिन्हित अतिक्रमण को भी हटाने पसीने छूट रहे ।बस स्टैंड में तनाव का माहौल बरकरार है