किसानों ने सीएम नाथ से लगाई गुहार, कहा बचा लो सरकार हम नहीं हैं कर्जदार

पुष्पराज सिंह बघेल/सतना।शिवराज सरकार में हुए भ्रष्ट्राचार का खमियाजा अब किसानों को भुगतना पड़ रहा है। जिन किसानों ने कर्ज का अवेदन तक नही दिया उन बेबस किसानों को ऋण वसूली की नोटिस जारी की गई है। नोटिस में ऋण न अदा करने पर खेत जमीन और घर कुर्क करने की धमकी दी गई है। ऐसे में सैकड़ो किसानों ने मुख्यमंत्री कामलनाथ से न्याय की गुहार लगाई है। मामला सतना जिले के देवरी चोरहटा सेवा सहकारी समिति का है, जहां 1228 किसानों को नोटिस मिली है, उनमें से अधिकतर किसानों ने ऋण लिया ही नहीं। जालसाज समित प्रवंधक ने किसानों के नाम पर 48 करोड़ का गबन कर पिछले दो वर्षों से फरार है जिसकी पुलिस अब तक तलाश नही पाई, और इसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है किसानों को कर्ज जमा करने की नोटिस पे नोटिस जारी की जा रही।किसानों का कहना है की जय किसान ऋण माफी योजना के तहत लाभ के लिए अवेदन किया था, लेकिन अब तक एक भी किसान को इस योजना का लाभ नही मिला है, बैंक प्रवंधक ने फार्म भराये और अब उन्ही को नोटिस देकर कर्ज अदा करने का दवाब बना रहे हैं। किसानों ने आज कलेक्टर को अपना ज्ञापन सौंपा जिसके बाद कलेक्टर सतेंद्र सिंह ने किसानों को आश्वासन देते हुए कहा की जांच के बाद दोषियों पर उचित कार्रवाई की जाएगी।