छह साल की मासूम से नाबालिग ने किया दुष्कर्म, मजदूर पिता सूरत में फंसा

सतना| पुष्पराज सिंह बघेल| मध्य प्रदेश के शहरी इलाके हो या ग्रामीण अंचल नाबालिक बच्चियाँ सुरक्षित नही है। रेप और छेड़छाड़ की घटनाओं का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है।हाल ही में सतना के नागौद थाना अन्यर्गत डूडहा गाँव मे 6 साल की नाबालिक बच्ची से पड़ोस के ही नाबालिग लड़के ने बलात्कार की घटना को अंजाम दिया है। इस मामले का दर्दनाक पहलू ये है कि ये परिवार पहले से ही बेहद ही आर्थिक तंगी के बीच सफर कर रहा है। पीड़ित परिवार का मुखिया परिवार के पालन पोषण के लिए सूरत में मजदूरी करता हैं जो इस लॉक डाउन का शिकार हो घर नही लौट सका ऐसे आर्थिक तंगी से जूझ रही पीड़ित बच्ची की माँ अब अपनी नाबालिक बच्ची से हुई घटना को लेकर सहमी हुई। नागौद पुलिस ने बच्ची की शिकायत पर नाबालिग आरोपी पर 376 का मामला कायम कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।लेकिन इस घटना की खबर से इलाके में सनसनी है। खबर लगते ही जिला पंचायत उपाध्यक्ष , डॉ.रश्मि सिंह ने पीड़ित परिवार के घर जाकर हाल जाना और हरसंभव मदत के लिए अपने हाँथ आगे किये।कांग्रेस नेत्री ने महिलाओं बच्चीयों पर हो रहे अपराध पर सरकार को आड़े हांथो लिया।

डूडहा गाँव मे हुई इस नाकाम घटना पर से पूरा गाँव सहमा हुआ है। जहाँ जिला पंचायत उपाध्यक्ष डॉ. रश्मि सिंह ने मौके पर जाकर जायजा लिया तो गरीबों के लिए मुहैया तमाम योजनाओ की पोल खुल गयी बेहद ही पिछड़े इस गाँव तक शासन की योजनाएं कोसो दूर हैं।नाबालिग से हुई घटना पर एक दुखद पहलू ये सामने आया कि पीड़ित परिवार घर के मुखिया की राह ताक रहा है ।जो लॉक डाउन में सूरत में फँसा है।मौके पर पहुँची कांग्रेस नेत्री ने बी जे पी सरकार में महिलाओ नाबालिग बच्चीयों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाये।साथ ही मध्यप्रदेश में कानून व्यवस्था लचर होने का आरोप लगाया कहा पीड़ित बच्ची के पिता को सरकार उसके घर पहुँचाये जिसकी माली हालत इतनी कमजोर है कि लॉक डाउन का शिकार अपने घर नही पहुँच पा रहा है।