Scindia-Digvijay ,अब चूहों बने राजा महाराजा के बीच बयान वार का माध्यम

भोपाल डेस्क… राजनीति (politics) भी गजब है। कभी अपनों को महिमामंडित करने या विरोधी को नीचा दिखाने के लिए क्या कुछ उपमा नहीं दी जाती। कभी कोई टाइगर बन जाता है तो कभी कोई सिंह। विरोधी को गिरगिट बता दिया जाता है तो किसी को लोमड़ी। रविवार को कांग्रेस सासंद दिग्विजय सिह (digvijay singh) व भाजपा सासंद ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) चूहो पर बनी कहावत को लेकर एक दूसरे पर तंज कसते नजर आए।

Scindia- दिग्विजय का तंज, दुख है कि बीजेपी में एक साल में महाराज भाई साहब बन गए

मौका था कमलनाथ सरकार (kamalnath government) के गिरने और शिवराज सरकार (shivraj government) की दोबारा सत्ता में वापसी का एक साल पूरा होने का। सुबह ही सिंधिया भोपाल पहुंचे और उनके सम्मान में शिवराज सिंह चौहान ने अपने निवास पर लंच दिया। इस लंच में 100 से ज्यादा सिंधिया समर्थक व भाजपा नेता भी शामिल हुए। बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सिंधिया बोले कमलनाथ सरकार ने ट्रांसफर पोस्टिंग के माध्यम से वल्लभ भवन को जो दलाली का अड्डा बना दिया था और जिस तरह से पूरे प्रदेश में बदहाली का आलम था, उसके चलते उन्होंने कांग्रेस को उखाङ फेका।आज पूरे देश व प्रदेश मे कांग्रेस हाशिये पर है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि सौ सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली। बस फिर क्या था हमेशा से सिंधिया को लेकर मुखर रहने वाले दिग्विजय सिंह ने भी सवाल खड़ा कर दिया कि सिंधिया बताएं कि कांग्रेस में रहकर उन्होंने कितने चूहे खाए।

Jyotiraditya Scindia : संघ-संगठन की गतिविधियों में ज्योतिरादित्य सिंधिया की बढ़ती नजदीकियां

यह पहला मौका नहीं जब दिग्विजय और सिंधिया के बीच व्यंग बाण चले हो। जब सिंधिया ने राज्यसभा सांसद के रूप में मोदी सरकार (modi government)की तारीफ की थी तब भी दिग्विजय सिंह ने उन पर तंज करते हुए कहा था कि आप कांग्रेस का पक्ष जितनी अच्छी तरह से रखते थे उतनी ही अच्छी तरह से आपने बीजेपी का पक्ष भी रखा है। सिंधिया ने कहा था, सब आपका आशीर्वाद है और दिग्विजय ने कहा था वह हमेशा रहेगा।