गोद लिए बेटे ने 90 साल के माता-पिता को घर से निकाला, मारपीट कर जमीन हड़पी

सीहोर, अनुराग शर्मा। एक नि:संतान वृद्ध दंपत्ति को अपने बढ़े भाई के बेटे को गोद लेना भारी पड़ गया। गोद लिए बेटे (adopted son) ने 90 साल के वृद्ध माता पिता को 14 एकड़ जमीन से बेदखल कर दिया और मारपीट कर घर से भी भगा दिया। इसके बाद वे ग्रामीणों की मदद से शिकायत करने सिद्धीकगज थाने पहुंचे तो पुलिस ने भी उनका तिरस्कार किया। मामला आष्टा तहसील के ग्राम बड़लिया बरामद का है। मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुंचे इस वृद्ध दंपत्ति ने जिला प्रशासन से इंसाफ की गुहार लगाई है।

पीड़ित हरिराम और कमला बाई ने बताया की निसंतान होने के कारण उन्होनेसे 10 वर्ष पूर्व शोभाराम को गांव वालों की गवाही में गोद लिया था। हालांकि इसकी कोई लिखापढ़ी नहीं हुई थी। इस वृद्ध दंपत्ति के पास 14 एकड़ कृषि भूमि है, जिसके माध्यम से कुछ सालों तक तो गोद लिए बेटे ने उनकी देखभाल की, लेकिन फिर उसने बुजुर्ग माता पिता के साथ मारपीट शुरू कर दी। इतना ही नहीं गोद लिए बेटे शोभाराम का बेटा राहुल भी उनके साथ दुर्व्यवहार करने लगा। विरोध करने पर दंपत्ति की हत्या करने की धमकी भी दी जाने लगी। बीते दिनों तो बेटे ने जमीन पर अवैधानिक कब्जा कर बूढ़े माता पिता को मारपीट कर घर से निकाल दिया। फिलहाल इस दंपत्ति ने ने जावर के ग्राम आमला मज्जू मेंं करीबी रिश्तेदार के घर शरण ले रखी है। इनका कहना है कि ये पुलिस के पास गए तो उन्होने भी उनकी कोई मदद नहीं की। इसके बाद अब इस दंपत्ति ने कलेक्ट्रेट में पहुंचकर अपनी शिकायत दर्ज कराई है और मांग की है कि उनकी जमीन गोद लिए बेटे से उन्हें वापिस दिलाई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here