मुख्यमंत्री के गढ़ बुधनी में नही हुआ विकास, लोग चाहते है बदलाव : अरुण यादव

arun-yadav-attack-on-shivraj-budni-vidhansabha-seat

सीहोर

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव का रंग पूरी तरह चढ़ चुका है। सीहोर जिले के बुधनी विधानसभा क्षेत्र में रोचक मुकाबला हो चला है। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने कांग्रेस ने पूर्व प्रदेशाध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव को उतारा है।इसी बीच बुधनी विधानसभा क्षेत्र में जनसंपर्क कर रहे पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव ने मुख्यमंत्री शिवराज पर बड़ा हमला बोला है। यादव ने कहा है कि बुधनी में लोग बदलाव चाहते हैं। लोग यहां के ठेकेदारों से डरे हुए हैं। यादव का आरोप है कि मुख्यमंत्री के गढ़ बुधनी में विकास नहीं हुआ है । यहां सड़क, बिजली और पानी लोगों के घर तक नहीं पहुंच पा रही। कांग्रेस को इस बार जनता का समर्थन मिलकर रहेगा।

बताते चले कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधनी सीट से पांचवीं बार चुनावी मैदान में हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र सिंह चौहान को 84 हजार मतों के बड़े अंतर से हराया था। उन्होंने बुधनी से पहला चुनाव 1990 में लड़ा था। बुधनी सीट से शिवराज की जीत के आंकड़ें को देखें, तो साल 2006 से ही वे लगातार जीत हासिल करते रहे हैं। वर्ष 2006 के उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार राजकुमार पटेल को 36 हजार मतों के अंतर से हराया। इसके बाद साल 2008 में महेश सिंह राजपूत को 41 हजार के अंतर से हराया था। पहली बार शिवराज को उनके ही घर में घेरने की रणनीति के तहत अरुण यादव को उम्मीदवार बनाया गया है।क्षेत्र में कई समस्याएं है जिनका आजतक निदान नही हो पाया, जनता में नाराजगी है, जिसे फायदा समझकर कांग्रेस अपनी सफलता के तौर पर देख रही हैं।