कांग्रेस नेता की दुकान पर बुलडोजर चलने से भड़के दिग्विजय, क़ानूनी लड़ाई की चेतावनी

भाजपा सरकार प्रदेश में  एक वर्ग को निशाने पर लिए हुए है इसपर हमें घोर आपत्ति है और इसकी हम कानूनी लड़ाई लड़ेंगे।

दिग्विजय सिंह

सीहोर, अनुराग शर्मा।  मध्य प्रदेश में अतिक्रमण के खिलाफ चल रही बुलडोजर मुहिम के खिलाफ कांग्रेस (Congress) मुखर होकर सामने आ गई है। सीहोर जिला प्रशासन ने कांग्रेस नेता भैया मियां की दुकानों पर बुलडोजर चला दिया जिसकी सूचना पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh), पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव (Arun Yadav) और पूर्व मंत्री सज्जन  (Sajjan Varma) वर्मा पहुंचे और जिला प्रशासन सहित प्रदेश सरकार पर एक वर्ग विशेष के खिलाफ कार्यवाही के आरोप लगाए।  दिग्विजय सिंह ने चेतावनी दी कि हम इसकी क़ानूनी लड़ाई लड़ेंगे।

सीहोर (Sehore News) के कांग्रेस नेता भैया मियां की दुकानों पर बुलडोजर चलने की खबर सुनकर कई स्थानीय कांग्रेस नेता मौके पर पहुंच गए। इस दौरान शाम को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा भी मौके पर पहुंचे,  स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने उन्हें पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी।

ये भी पढ़ें – बुरहानपुर- डेढ़ लाख की रिश्वत लेते नगर निगम प्रभारी कार्यपालन यंत्री लोकायुक्त के हत्थे चढ़ा

दिग्विजयसिंह, अरुण यादव, सज्जन वर्मा ने स्थानीय कांग्रेस नेताओं के साथ उस क्षेत्र का पैदल भ्रमण किया और जानकारी जुटा कर स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों एसडीएम विजय मण्डलोई, तहसीलदार लाखन सिंह चौधरी, नायब तहसीलदार अंकिता वाजपेयी, नायब तहसीलदार अतुल शर्मा के साथ रेस्ट हाउस पर बंद कमरे में करीब एक घंटे तक चर्चा की। जिसमे दिग्विजयसिंह ने अधिकारियों को 115 के इलाके के सिर्फ एक व्यक्ति को नोटिस जारी कर दुकान तोड़ने और अन्य किसी को नोटिस नहीं  जारी करने पर आपत्ति जताई।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : प्रेमी के घर के बाहर प्रेमिका ने लगाई आग! हालत गंभीर

रेस्ट हाउस में एक घंटे तक स्थानीय प्रशासन से चर्चा करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सीहोर जिला प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि दो दिनों बाद ईद का त्योहार है कुछ दिन रुक जाते। इंसानियत की बात है,  ना भैया मियां कहीं भागे जा रहे थे, ना दुकानें कहीं जा रही थी। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर भाजपा सरकार प्रदेश में  एक वर्ग को निशाने पर लिए हुए है इसपर हमें घोर आपत्ति है और इसकी हम कानूनी लड़ाई लड़ेंगे।