सीहोर, अनुराग शर्मा। इछावर ब्लॉक में सर्वाधिक लगातार बारिश होने से क्षेत्र के खेतों की खड़ी सोयाबीन, मक्का आदि की फसलें पूर्ण रूप से खराब हो चुकी हैं, जिस संबंध में आज क्षेत्र के किसानों ने तहसील पहुंचकर एसडीएम को मुख्यमंत्री नाम एक ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया कि खेतों में लगी सोयाबीन, मक्का की फसल पूरी तरह से खराब हो चुकी है। किसानों ने जुताई बुवाई और निदाई सहित दिन रात कड़ी मेहनत करके कर्ज लेकर फसल तैयार की थी। किसानों को बड़ी आस थी कि इस बार अच्छी फसल से सारे बुरे दिन ठीक हो जाएंगे। लेकिन अतिवृष्टि से खराब हुई फसलों को लेकर किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें साफ देखी जा सकती हैं।

शासन के निर्देशों के अनुसार तहसील के सभी पटवारियों को किसानों के खेत पर जाकर सर्वे भी करना था। लेकिन आज तक कोई भी पटवारी किसी भी किसान के पास सर्वे करने नहीं पहुंचा है। न ही किसी जनप्रतिनिधियों ने किसानों की सुध ली, जिससे किसानों में आक्रोश व्याप्त है।

किसानों का कहना है कि अतिवृष्टि से जो हमारी सोयाबीन मक्का,उड़द मूंग की फसल 100 फीसदी खराब हो चुकी है। शासन प्रशासन से आग्रह करते हैं कि सभी ग्राम पंचायतों की फसलों का सर्वे कराकर उन्हें अतिवृष्टि से जो फसल खराब हुई है, उस फसल का शीघ्र उचित सर्वे कर परेशान किसानों का मुआवजा दिलाया जाए। उचित मुआवजा नहीं मिलने पर किसानों ने धरना प्रदर्शन की चेतावनी भी दी है। वहीं इछावर एसडीएम ने किसानों को आश्वासन दिया कि क्षेत्र के हिसाब से पटवारियों को निर्देश दिए गए कि जो खराब प्रभावित फसल है, उनका सर्वे करें।

परेशान किसानों ने मुआवजे की मांग को लेकर सौंपा SDM को ज्ञापन, धरना प्रदर्शन की दी चेतावनी