खुशियों पर ग्रहण: घर में लगी आग, बेटियों के दहेज का सामान जलकर खाक

40

सीहोर। अनुराग शर्मा।

महिनों बेटियों की शादि के इंतजाम में लगे पिता के घर में आग लग गई। जिससे घर के सामान सहित दहेज का सामान और घर में रखी नकदी भी राख हो गई। नपा ने शुरुआती सर्वे कर पंचनामा बनाया। जिसमें करीब 10 लाख का नुकसान होना बताया जा रहा है। वहीं आग की लपटे पड़ोसी के घर तक भी पहुंच गई। जिससे उसे भी नुकसान हुआ।
शहर की देवनगर कॉलोनी में रविवार की देर शाम करीब 7 बजे आगजनी की घटना हुई। जिसमें बद्री प्रसाद महेश्वरी पिता रामनारायण के घर में रखा पूरा सामान खाक हो गया।गैस सिलेंडर में जब आग लगी तब बद्री प्रसाद के घर की महिलाएं खाना बना रही थीं। उन्होंने उसी समय नया गैस सिलेंडर लगाया था। जिसमें से गैस लीक हो रही थी, लेकिन महिलाओं ने इस पर ध्यान नहीं दिया। खाना बनाते समय अचानक सिलेंडर में आग लग गई। इस दौरान बद्री प्रसाद की बेटी क्षमा किचिन में मौजूद थी। आग लगते ही वह घर से बाहर निकली और शोर मचाया। इस पर लोगों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया। साथ ही फायर बिग्रेड को भी सूचना दी गई। आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा था। इसी बीच आग की लपटें बद्रीप्रसाद महेश्वरी के पड़ोसी मूलचंद यादव के घर तक आग पहुंच गई। जिस पर समय रहते काबू पा लिया गया, लेकिन बद्री प्रसाद के घर का पूरा सामान खाक हो गया। इसके अलावा उनके घर में करीब तीन लाख रुपये नकद रखे थे। वह भी जल गए।
26 अप्रैल को थी खुशी और क्षमा की शादी
बद्रीप्रसाद महेश्वरी की चार बेटियां हैं। जिनमें से दो बेटियों की शादि 26 अप्रैल को हैं। वे एक सामान्य परिवार के मुखिया है। बद्रप्रसाद फेरी लगाकर कपड़े बेचने के साथ सिलाई का काम भी करते हैं। बेटियों की शादि के लिए वे महिनों से दहेज का सामान और स्र्पये जुटा रहे थे। उन्होंने शादि की तैयारियों को लेकर तीन लाख स्र्पये केश और दहेज का बहुत सामान एकत्रित किया था। जो घर में ही रखा था। इसके अलावा उनकी खुद की गृहस्थी का सामान भी था। जो खाक हो गया।

एजेंसी की गलती आई सामने, गैस सिलेंडर से लगी आग

बद्रीप्रसाद महेश्वरी के घर में आग उसे समय लगी जब उनकी एक बेटी क्षमा खाना बना रही थी। तभी अचानक गैस सिलेंडर में आग गई। आग लगते ही क्षमा घर से बाहर आ गई। इसके बाद आग ने पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। बताया जाता है कि गैस सिलेंडर के कारण लगी जो लीक था। एजेंसी के कर्मचारी ने सिलेंडर देते समय उसे चैक नहीं किया था। यदि कर्मचारी चैक करके सिलेंडर देता तो घटना नहीं घटती।
आज दी जाएगी राहत राशि
आगजनी की घटना में कितना नुकसान हुआ। इसका आंकलन अभी किया जा रहा है। फिलहार पीड़ित परिवार को शुस्र्आती राहत के तौर पर खाने की सामग्री, बिस्तर और अन्य आवश्यक सामग्री दी गई है। उन्हें आज सोमवार को ही राहत राशी आवंटित कर दी जाएगी।

आदित्य जैन, एसडीएम सीहोर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here