सबसे पहले सीहोर, फिर इछावर और अंत में बुदनी के आएंगे परिणाम

-First-of-all

सीहोर| विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे। आरएके कॉलेज में होने वाली मतगणना के लिए प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। जिले के 1205 पोलिंग बूथ की ईवीएम मशीनें आरएके कॉलेज के स्ट्रांग रूम कड़ी सुरक्षा में रखी गयी हैं। सीसीटीवी कैमरे से भी यहां 24 घंटे निगरानी की जा रही है। यही नहीं भाजपा और कांग्रेस के लोग भी यहां पहरेदारी कर रहे हैं। इस बार सीहोर के परिणाम सबसे पहले और बुदनी के परिणाम सबके बाद आएंगे।

चुनाव आयोग के नियमानुसार हर विधानसभा क्षेत्र में मतगणना के लिए 14-14 टेबलें लगाई जाएंगी। जिले के सबसे छोटे विधानसभा क्षेत्र सीहोर में सबसे कम मतदान केंद्र (257) होने और प्रत्याशी भी केवल 11 होने के कारण 19 राउंड में मतगणना होगी। सबसे पहले इसी का रिजल्ट संभावित है। वहीं जिले के सबसे बड़े विधानसभा क्षेत्र बुदनी में 25 राउंड तक मतगणना चलेगी। यहां सबसे ज्यादा 15 प्रत्याशी के साथ-साथ सबसे ज्यादा 348 मतदान केंद्र है। इस कारण सभी के वोटों का हिसाब लगाने में लंबा समय लगेगा। सबसे आखिर में इसी विधानसभा क्षेत्र का रिजल्ट आने की संभावना है। इसी तरह इछावर विधानसभा क्षेत्र में 269 मतदान केंद्र तथा 14 प्रत्याशी होने के कारण 20 राउंड में मतगणना पूरी होगी। आष्टा में भी 331 मतदान केंद्र हैं। इस कारण यहां 24 राउंड में गिनती पूरी होगी। आष्टा विधानसभा में प्रत्याशी सबसे कम 9 हैं। कलेक्टर तरुण कुमार पिथोड़े ने बताया कि ईवीएम, वीवीपैट और डाक मतपत्र आरएके कॉलेज के स्ट्रांग रूम में रखे हैं। चारों विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गणना एक साथ शुरु की जाएगी। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना के लिए 14-14 टेबलें लगाई जाएंगी। इन टेबलों पर एक-एक सुपरवाइजर और मतगणना सहायक रहेगा। हर टेबल पर माइक्रो ऑब्जर्वर भी रहेंगे।

इस तरह दिया जाएगा प्रवेश

मतगणना का काम मंगलवार 11 दिसंबर को होगा। सुबह 8 बजे से पहले उम्मीदवारों के अभिकर्ता अंदर जा सकेंगे। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतगणना केंद्र में कई पाबंदियां रहेंगी। हर विधानसभा क्षेत्र के लिए आरएके कॉलेज के मुख्य द्वार से अलग-अलग प्रवेश की व्यवस्था रहेगी। मतगणना कक्ष में जाने के बाद एजेंट व प्रत्याशी बाहर नहीं आ सकेंगे। मीडिया, गणनाकर्मियों, प्रेक्षकों व अधिकारियों के लिए अलग से प्रवेश की व्यवस्था रहेगी। मतगणना कक्ष में मोबाइल, बीड़ी, सिगरेट आदि अति ज्वलनशील पदार्थ व खाने-पीने की वस्तुएं ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। 

सबसे पहले डाक मतपत्रों की होगी गिनती

मतगणना की शुरुआत संबंधित विधानसभा क्षेत्र में डाले गए डाक मतपत्रों की गिनती से होती है। इस बार 5 हजार 477 डाक मतपत्र डाले गए हैं। इसकी गिनती में ही करीब आधा घंटे का समय लग जाएगा। इसके बाद ही ईवीएम से गिनती की जाएगी। 

हर केंद्र में रैंडम आधार पर एक वीवीपैट खोल ईवीएम व पर्चियों का करेंगे मिलान

मतगणना के दौरान रैंडम आधार पर हरेक मतदान केंद्र की एक वीवीपैट में डली पर्चियों और ईवीएम में पड़े मतों का मिलान किया जाएगा। यह काम सभी केंद्रों की ईवीएम में वोटों की गिनती खत्म होने के बाद यानी अंतिम राउंड के बाद होगा। इस दौरान उम्मीदवार/निर्वाचन अभिकर्ताओं एवं केंद्रीय प्रेक्षक की उपस्थिति होंगे। इसकी वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। इसके लिए कमरे में वीवीपैट काउंटिंग बूथ रहेगा, जिसमें जाली रहेगी, ताकि कोई छेड़छाड़ नहीं कर सके। इसकी गिनती के लिए रिटर्निंग ऑफिसर सभी उम्मीदवारों को पूर्व सूचना भी देंगे।

कई जगह रहेगी अभिकर्ताओं की भीड़

जिले की चारों सीटों पर 49 उम्मीदवारों के अभिकर्ता मतगणना के दौरान अंदर रहेंगे। इस कारण जिन विधानसभा क्षेत्रों में अधिक उम्मीदवार हैं, वहां पर मतगणना के दौरान अभिकर्ताओं की भी संख्या उतनी ही अधिक रहेगी।

कहां कितने राउंड में मतगणना

विस क्षेत्र पोलिंग बूथ उम्मीदवार राउंड

सीहोर 257 11 19

इछावर 269 14 20

आष्टा 331 9 24

बुदनी 348 15 25

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here