घरों में सफाई के बाद सार्वजनिक स्थानों पर कचरा डाला तो सीधे होगी एफआईआर 

Garbage-in-public-places-after-cleanliness-in-homes-will-be-straightforward-FIR

सीहोर।

शहर की बढ़ती जनसंख्या और रहवासी क्षेत्र में इजाफा नगर पालिका परिषद के लिए मुसीबत बनता जा रहा है। शहर की नियमित साफ सफाई सहित अन्य जरूरी कार्यो को पूरा करने के लिए नगर पालिका को सौ सफाई कर्मियों सहित सभी वार्डो के लिए ३५ कचरा गाड़ी, जेसीबी, रोड क्लिनर, डॉग, काउ केचर की जरूरत है। नगर पालिका में १७ साल पुराना सफाई अमला कार्यरत है जिस में से भी कुछ कर्मचारियों की मौत हो चुकी है तो कुछ रिटायर हो चुके है। जिस कारण सफाई कर्मियों की संख्या मजहज १२० के लगभग रह गई है। 

बावजूद इस के नगर पालिका अध्यक्ष अमीता अरोरा के कुशल मार्गदर्शन में नागरिकों की निरंतर सेवा नगर पालिका परिषद के द्वारा की जाती रही है। नगर पालिका को नागरिकों का अपेक्षित सहयोग भी नहीं मिल पा रहा है। जिस कारण अब परिषद ने सख्त रूख अपना लिया है। सार्वजनिक स्थानों और कचरा घरों में सफाई के बाद नागरिकों के द्वारा कचरा डालने गंदगी करने पर न्युसेंस अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाही की जाएगी। संबंधित व्यक्ति पर एफआईआर दर्ज कराकर जुर्माना वसूली के आदेश भी नगर पालिका अध्यक्ष अमीता अरोरा के द्वारा दिए गए है। 

मंगलवार को नगर पालिका परिषद सभागार में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान नगर पालिका अध्यक्ष अमीता अरोरा और भाजपा नेता पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जसपाल सिंह अरोरा ने  सभी  वार्ड सफाई प्रभारियों को नियमित साफ सफाई कराने और मौसम को ध्यान में रखते हुए  कीटनाशक का छिड़काव प्रति दिन अनिवार्य रूप से जरूरी स्थानों पर कराए जाने के निर्देश दिए है। उन्होने बताया की सड़को सहित नालियों  और घूढ़ा साफ सफाई उपरांत यदी कोई कचरा फेकता है तो उन नागरिकों पर पुलिस कार्यवाहीं और जुर्माना किया जाएगा। 

आवरा मवेशियों को छोडेंगे जंगल 

शहर में आवारा घूमने वाले जानवर गाय बैल सुअर आदि को पकड़कर नादान स्थित जंगल में छोड़ा जाएगा। आवारा मवेशियों से उत्पन्न समस्याओं से नागरिकों को राहत मिल सकेंगी। मच्छरों के प्रकोप को कम करने के लिए गर्मी का मौसम प्रारंभ होने के कारण प्रति दिन फॉग मशीन शहर के सभी वार्डो में पहुंचकर चलाई जाएगी। उन्होने बताया की शहर के बड़े नाले नालियों की सफाई कराने के लिए एक सफाई दल का गठन करने और आवश्कयता अनुसार कर्मचारी बढ़ाने के निर्देश भी दिए है। शहर की बढती जनसंख्या और लगातार होते रहवासी क्षेत्र के विस्तार को देखते हुए नवीन जेसीबी, डोर टु डोर के लिए पांच नई कचरा गाडिय़ां और डॉग कैचर एवं काउ केचर वाहन और परेशानी को देखते हुए नवीन शव वाहन खरीदने का निर्णय भी लिया गया है। 

नपाध्यक्ष ने की है अपील 

नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमति अरोरा ने कहा की स्वच्छता के प्रति आप का एक कदम शहर को स्वच्छ और सुंदर बना सकता है। शहर के सभी व्यापारियों से दुकानों पर कचरा एकत्रित करने के लिए डस्टबीन अनिवार्य रूप से रखने कचरा नाली सड़क या फिर किसी सार्वजनिक स्थल पर नहीं फेकने की अपील की है। 

यह रहे सभागार में मौजूद 

नगर पालिका सभागार में स्वच्छता शाखा सभापति कमलेश राठौर, स्वच्छता निरीक्षक दीपक देवगढ़े और अमित यादव समस्त सफाई प्रभारी कमलेश कछवाय, छुटटन चावरिया, विजेंद्र सोनवाने, किशौर नागर, अशोक चौहान, संतोष गौहर, गन्नू भेरवे सहित  नगर पालिका के अधिकारी कर्मचारीगण मौजूद रहे।