विश्व मिटटी मृदा दिवस पर किसानों को किया जागरूक

mitti-diwas-kisanon-ko-kiya-jagruk

आष्टा। मोहम्मद सादिक।

विष्व मृदा दिवस के अवसर पर भारतीय स्टेट बैंक शाखा कन्नौद रोड आष्टा के सोजन्य से किसानों को जागरूकता हेतु अनुठी पहल की गई, किसानों को शाल एवं श्री फल देकर सम्मानित किया गया, तथा उन्होने अपने खेतों मे जैविक खाद बनाकर फसलें पैदा की है। उन्हे सराहा गया । आष्टा तहसील के मालीपुरा स्थित कृषकों के खेतों में जाकर जैविक खाद का उपयोग देखा गया तथा उन्हे इस संबंध जानकारी देकर जागरूक किया गया । शाखा प्रबंधक कैलाष पंवार ने क्षेत्र के जागरूक एवं फार्महाउस किसान एडवोकेट आर.एम.धारवॉ के खेत पर जाकर मिटटी मे जैविक खाद के उपयोग को देखा तथा उनके फार्म प्रबंधक गजराज सिंह मेवाडा को शाल एवं श्री फल देकर सम्मानित किया श्री धारवॉ के कृषि फार्म पर पूर्णतः जैविक खाद का उपयोग होता है उन्होने खाद के कम्पोस्ट पार्टीषन बनाये है, तथा पूरे बगीचे मे अमरूद,सूरजना,नींबू की फसलों , को देखकर बैंक प्रबंधक कैलाष पंवार ने तहसील के कृषक बंधुओं से आग्रह किया कि वे भी, अपने – अपने खेतों में मिटटी परीक्षण करायें,। मिटटी का चेकअप वैसा ही होता है। जैसा इंसान अपनी हैल्थ का चेकअप करवाता है। परीक्षण पष्चात मिटटी मे जो कमी है, उसकी पूर्ति जैविक खाद करता है। और मिटटी परीक्षण से यह भी पता चलता है कि वे किस प्रकार की फसल एवं फलों के पोधे किस प्रकार की मिटटी की उर्वरकता मे लगेगा जिससे फसल अधिक होगी, और रासायनिक खाद के उपयोग और भारी लागत से भी किसान भाई बचेंगे। श्री पंवार ने आव्हान किया कि विष्व मृदा दिवस के अवसर पर समस्त किसान भाई संकल्प लें कि वे अपने खेत में कचरा , गोबर आदि जैविक खाद के रूप में उपयोग करेंगे जिससे जमीन की उर्वरकता बढेगी । इस अवसर पर शाखा प्रबंधक कैलाष पंवार और फिल्ड आफिसर कैलाष पंवार, एडवोकेट पर्यावरण प्रेमी धीरज धारवां, कमल सिंह जैसवाल,राजकुमार चौहान, दुर्गेष झाडे, अन्य कृषक उपस्थित थे।