सीहोर, अनुराग शर्मा। भ्रष्टाचारियों (Corrupt) पर नकेल कसने के बावजूद सरकारी अस्पतालों (Government hospitals) में अवैध वसूली नहीं रुक रही है। सरकारी अस्पतालों के डॉक्टर्स और अन्य स्टाफ डिलेवरी की एवज में खुलेआम पैसे मांग रहे हैं।  सीहोर में भी ऐसा एक मामला सामने आया उसके बाद विधायक सुदेश राय (Sudesh Rai) ने अस्पताल जाकर डॉक्टर्स को जमकर फटकार लगाई।

सीहोर जिलाअस्पताल ( Sehore District Hospital) के बिगड़े सिस्टम को लेकर विधायक सुदेश राय सोमवार को जबरदस्त एक्शन में दिखाई दिए। विधायक ने शिकायतकर्ता के साथ अस्पताल पहुंचकर डॉक्टर्स  को खुलेआम जबरदस्त फटकार लगा दी। विधायक सुदेश राय ने डॉक्टर्स  से सीधे-सीधे कहा कि सरकारी डॉक्टर हो तो जनता को सेवा तय वक्त तक पूरी देनी होगी। इसके बाद आप क्या करते हैं वह करिए, किसी का कोई हस्तक्षेप नहीं है, लेकिन अगर सीहोर की जनता को तकलीफ हुई तो जनता के साथ जनता के हित में बदतमीजी करने से भी पीछे नहीं हटेंगे।

विधायक सुदेश राय ने सख्त लहजे में पूछा कि प्रसूता के परिजनों से आखिर किस बात के लिए 5000 रुपये  की वसूली की गई है। आपने खुद ही वसूली के नियम बना लिए हैं।  शर्म कीजिए जनता ने ही डॉक्टर को मतलब आप को भगवान का दर्जा तक दे रखा है उसी जनता के साथ आपके द्वारा बुरा बर्ताव किया जा रहा है,  अवैधानिक वसूली की जा रही है। पहले भी प्रसूता महिलाओं को जबरन भोपाल रेफर  करने, परिजनों को बेवजह परेशान करने की शिकायतें मिल चुकी हैं.  इसको लेकर पहले भी चेतावनी दी जा  चुकी है लेकिन आप लोग सुधरने को तैयार नहीं है।

विधायक सुदेश राय इतने भड़के हुए थे कि यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि बीपीएल कार्ड होने के बाद भी सरकार के द्वारा स्वास्थ्य संवर्धन योजनाओं के तहत दी जा रही सुविधाओं का लाभ नहीं दिया जा रहा है। अस्पताल पहुंचने वाले कई मरीजों के पास बीपीएल कार्ड भी नहीं होता है तब निजी और गुप्त रूप से उनकी आर्थिक मदद विधायक कार्यालय के जनसेवक कार्यकर्ताओं के द्वारा की जाती रही है। उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल में सरकार के द्वारा अब सभी तरह की जरूरी दवाइयां और मेडिकल से संबंधित मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं इसके बाद भी सुविधाएं देने में लापरवाही बरती जा रही है। जिसे अब सहन नहीं किया जायेगा।

गौरतलब है कि  इससे पहले भी संवेदनशील विधायक सुदेश राय द्वारा शिकायत मिलने पर जिला अस्पताल का अचानक दौरा किया गया था इस दौरान जच्चा बच्चा वार्ड में अनेक अवस्थाएं मिली थी महिला डॉक्टर की लापरवाही भी सामने आई थी ग्रामीण क्षेत्र की प्रसूता महिला को जबरन भोपाल रेफर करने का मामला भी उजागर हुआ था। जिसके बाद जिला अस्पताल का सिस्टम कुछ दिनों तक दुरुस्त हो गया था। जन हितेषी विधायक सुदेश राय के द्वारा  सीहोर सहित श्यामपुर दोराहा अहमदपुर बरखेड़ा हसन  चरनाल और ग्रामीण क्षेत्रों में मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा शुरू की गई स्वास्थ्य योजनाओं और सुविधाओं का लाभ नागरिकों को दिलाने के लिए भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। विधायक सुदेश राय के द्वारा जनहित में लिए गए सख्त एक्शन कि नागरिकों के द्वारा लगातार प्रशंसा की जा रही है नागरिकों का कहना है कि इसी तरह विधायक श्री राय लापरवाह डॉक्टरों पर शक्ति बरसते रहेंगे तब तक आम जनता को जिला अस्पताल से नियमित सुविधाएं मिलती रहेंगी।