सीहोर।अनुराग शर्मा।

बुधवार को शाम करीब 5 बजे नसरुल्लागंज पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर शहर से करीब 7 किलोमीटर दूर ग्राम गिल्लोर मैं नाकाबंदी कर दो पिस्टल और 4 जिन्दा कारतूस,स्विफ्ट कार सहित दो मौत के सौदागरों को पकडने की उल्लेखनीय सफलता प्राप्त की है।आरोपी इच्छावर थाना क्षेत्र के बताऐ जा रहे हैं, नवागत “साहिब” के कार्यभार संभालने के बाद से ही एक के बाद लगातार कार्यवाहियों के चलते असमाजिक तत्वों मैं हडकँप की स्थिती बनी हुई है,वही आमजन मैं पुलिस के प्रति नजरिया बदलने लगा है साथ ही “साहिब” की कार्यशैली से पुलिस कर्मचारियों मै मनोबल बढता प्रतीत हो रहा है,इस शानदार कार्यवाही के साथ ही कर्मचारियों में बरिष्ठ अधिकारियों से प्रशंसा मिलने की उम्मीद जागी है अन्यथा पिछले कुछ माहो से तो कार्यवाही करने बाले कर्मचारियों को निलम्बन सहित लाईन अटेच ही झेलना पडा है। यहाँ यह कहना भी अतिश्योक्ति नही होगा अगर पुलिस ने पुलिसिया अंदाज मै आरोपीयों से पूछताछ की तो पिस्टल कहाँ से आऐ “सरगना” कौन है और कितनो से मौत के सौदे (मतलब कितनो को कहाँ कहाँ पिस्टल बेची है) अभी तक हुऐ हैं…इस तथ्य से इंकार नही किया जा सकता।सूत्रों की मानें तो फिलहाल तो पुलिस की प्रारम्भिक पूछताछ मै आरोपियों ने पिस्टल कारतूस देवास तरफ से खरीदना बेचना स्वीकार किया है।