ये पब्लिक है कि मानती नहीं, पुलिसिया डंडे से खदेड़े गए लोग

सीहोर/अनुराग शर्मा
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुवे सीहोर जिले में 23 मार्च से लॉक टाउन के आदेश है। जिला प्रशासन, राज्य सरकार, केंद्र सरकार लगातार लोगों से घरों के अंदर रहने की अपील कर रहा है, लेकिन पब्लिक है कि मानती नहीं। ऐसे लोगों को सुधारने के लिये अब पुलिस ने अपने डंडे से काम लिया है। हालांकि ये डंडे लोगों पर चलाए नहीं गए, लेकिन डंडों से पुलिस ने बाहर घूम रहे लोगों को खदेड़ा।

कलेक्टर अजय गुप्ता ने भी लगातार लोगों से घरों में रहने की अपील की है। लेकिन लॉक डाउन की घोषणा के दूसरे दिन कई लोग लापरवाही से अपने घरों से रोज की भांति सड़कों ऐसे निकले जैसे चहलकदमी करने निकले हों। हालांकि इस दौरान इक्का दुक्का दुकानों को छोड़कर बाजार बंद रहा लेकिन जनता के लिए लॉक डाउन जैसे किसी उत्सव की तरह हो गया है। बिना किसी आवश्यक कार्य के लोग अपने घरों से तफरीह करने निकल रहे हैं। ऐसे में तमाम समझाइश के बाद भी जब लोग नहीं मान रहे हैं तो पुलिस को उन्हें डंडों से धमकाते हुए घर भेजना पड़ा।