नही उतरे… तारे जमीं पर…अधूरा तारामंडल

सीहोर| अनुराग शर्मा। शहर में वर्षाे पहले विद्यार्थियों को तारामंडल के माध्यम से आकाश में होने वाली खगोलीय घटनाओं की जानकारी ओर अध्ययन को जो सपना दिखाया गया था, वो सपना चकनाचूर होता दिख रहा है। 

जानकारी के अनुसार शहर के भोपाल नाके पर शासकीय आवासीय खेलकूद संस्थान के परिसर में कईसाल पहले तारामंडल बनाने के लिए निर्माण कार्य शुरू हुआ था, इसके लिए गोलाकार कक्ष तो बनकर सालों पहले तैयार हो गया, लेकिन उसके अंदर आवश्यक मशीनरी का सालो से इंतजार रहा। तब मशीने नही आई तो यह तारामंडल बेकाम साबित हो रहा है।

ज्ञात रहे कि यदि यह तारामंडल बनकर तैयार हो जाए तो विद्यार्थियों को अध्ययन में काफी मददगार साबित होगा इस तारामंडल के माध्यम से समय-समय आने वाले सूर्य और चंद्रग्रहण के दौरान विद्यार्थियों को खगोलीय घटनाओं को लेकर अपनी जिज्ञासाओं के उत्तर मिल जाएंगे, लेकिन शिक्षा विभाग ने समय के साथ इस तारामंडल को चालू करना लगभग भूला सा दिया है। इस पर खर्च पैसा भी लगभग बर्बादी की ओर हैं।