नर्मदा में बहे युवक का शव एक दिन बाद मिला, नदी पार करते समय हुआ हादसा

सीहोर/अनुराग शर्मा

शुक्रवार को गमी के कार्यक्रम से सम्मिलित होकर लौट रहे दो युवक नर्मदा तट दीपानेर में निर्माणाधीन पुल के पास पानी के तेज बहाव में बह गए थे, जिसमें से एक युवक तो बाहर आ गया, वहीं दूसरा युवक नहीं मिला। उसे तलाशने के लिए रात आठ बजे से रेस्क्यू किया गया और शनिवार सुबह उसका सुबह शव मिल गया। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार दीपक पिता तुलसीराम अटेरिया 18 वर्ष व पवन अटेरिया जो आपस में चचेरे भाई और ग्राम छीपानेर के निवासी है, शुक्रवार सुबह दोनों ही भाई पवन की रिश्तेदारी में गमी के कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए गए थे। शाम के लगभग 4 बजे के करीब जब दोनों ही वापस लौट रहे थे इस दौरान छीपानेर नर्मदा के उस पास से दोनों ही भाईयों ने निर्माणाधीन पुल के पिल्लरों का सहारा लेकर नर्मदा नदी को पार करने की कोशिश की। इस दौरान पवन अटेरिया तो किनारे पर लग गया, लेकिन दीपक नर्मदा नदी की तेज धार में बह गया। बीच नदी में बहाव अधिक था, जिसके कारण वह संभल नहीं पाया और उसका संतुलन बिगड़ गया। तेज बहाव के चलते वह नर्मदा की धार के साथ आगे की और बह गया। इस दौरान प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा और स्थानीय गोताखोरों की मदद से देर शाम 8 बजे से दीपक की तलाश की जा रही थी, जिसका शनिवार सुबह 9 बजे करीब 13 घंटे चले रेस्क्यू के बाद शव मिला। रेस्क्यू के लिए भोपाल से गोताखोर का दल बुलाया गया था।