देर रात अस्पताल पहुंचे विधायक, अव्यवस्थाओं से नाराज होकर सीएमएचओ को फोन लगाया

सीहोर, अनुराग शर्मा। विधायक हो तो ऐसा, मातृ शिशु अस्पताल में मौजूद प्रसूता महिलाओं और उनके परिजनों के मुंह से बरबस ही यह शब्द निकल पड़े। एक अनजान बुजुर्ग की शिकायत मिलने के बाद रविवार रात 11 बजे के दरमियान विधायक सुदेश राय अचानक मातृ एवं शिशु जिला स्वास्थ्य अस्पताल पहुंचे। किसी ग्रामीण प्रसूता महिला कुछ जबरन भोपाल रेफर करने की तैयारी कर रहा डिलीवरी वार्ड का स्टाफ विधायक को इस तरह सामने पाकर हक्का-बक्का रह गया।

क्षेत्र के लोकप्रिय विधायक सुदेश राय के अस्पताल में मौजूद होने की भनक लगते ही परिसर में सो रहे प्रसूता महिलाओं के परिजन भी एकत्रित हो गए। ओवर नाइट हॉस्पिटल में एमएलए की एंट्री ने डॉक्टर नर्स वार्ड बॉय सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों में भी घबराहट फैल गई। विधायक सुदेश राय ने जबरन बिना ठोस कारण के रेफर की जा रही प्रसूता को यहीं रुकवाया। स्टाफ से ड्यूटी डॉक्टर की जानकारी ली। ड्यूटी से लेडी डॉक्टर नदारद मिली। अस्पताल में प्रसूता महिलाओं को लेकर जारी लापरवाही यों बदमाशियों से तमतमाए विधायक सुदेश राय ने सीधे जिला अस्पताल इंचार्ज डॉ आनंद शर्मा को कॉल किया। उन्होंने कहा कि प्रसूता महिलाओं की जान से खिलवाड़ नहीं चलेगा, जबरन रेफर और प्रसूता महिलाओं सहित परिजनों को परेशान करने का तरीका बदलना होगा, वरना अब डॉक्टरों की नौकरी जाएगी। विधायक सुदेश राय ने और भी कड़ा रुख अख्तियार किया। मौजूद डॉक्टर नर्स सहित अन्य जिम्मेदार लोगों को इंसानियत बनाए रखने और अपना चिकित्सा धर्म ईमानदारी से निभाने की नसीहत देते हुए कड़ी फटकार लगाई।

रात में हॉस्पिटल में एमएलए की एंट्री की इंफॉर्मेशन मिलते ही नदारद लेडी डॉक्टर सुजाता परमार अस्पताल पहुंची और उन्होंने मामूली कारण के चलते रेफर की जा रही ग्राम खामलिया की मीना पति ओमप्रकाश के डिलीवरी ऑपरेशन की तैयारी की। जिसके बाद महिला ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। इसी दौरान ग्राम समर्दा की रहने वाली आशा पति देव नारायण ने भी बच्चे को जन्म दिया। बता दें कि ग्राम खामलिया के एक बुजुर्ग ने विधायक सुदेश राय से अपनी बहू और बच्चे को बचाने की गुहार लगाई थी। जिसके बाद विधायक अस्पताल पहुंचे थे। उनके पहुंचने के बाद एक्शन में आए डॉक्टरों ने महिलाओं की डिलीवरी कराई। विधायक सुदेश राय के पहुंचने के बाद ग्राम बड़ी पोलाय की मनीषा पति सोनू, ग्राम भाउखेड़ी की कोमल पति अखिलेश, सुमित्रा पति कपिल को भी परेशानियों से छुटकारा मिल गया।

विधायक सुदेश राय ने सीएमएचओ डॉक्टर सुधीर डेहरिया को जिला अस्पताल की सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए। अस्पताल पहुंचने वाले शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों को सभी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने, लापरवाह डॉक्टरों नर्सों पर सख्त कार्यवाही करने, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केंद्र की सुरक्षा व्यवस्था को सुधारने, अस्पताल में प्रसूताओं के लिए सभी दवाएं और इंजेक्शन की व्यवस्था 24 घंटे कराने के निर्देश जनहित में दिए। इधर बड़े भाई बनकर जिला अस्पताल पहुंचने पर प्रसूता महिलाओं और परिजनों ने विधायक सुदेश राय की जनता के प्रति संवेदनशीलता उदारता सेवा भाव की तत्परता की प्रशंसा करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here