सीहोर ट्रामा सेंटर में डॉक्टरों की लापरवाही से गई मरीज की जान, परिवार ने की कार्रवाई की मांग

सीहोर ट्रामा सेंटर में डॉक्टरों ने एक मरीज के इलाज में लापरवाही की जिससे उसकी जान चली गई।

सीहोर, डेस्क रिपोर्ट। सीहोर के ट्रामा सेंटर (Sehore Trauma Center) में मरीज के इलाज में लापरवाही की घटना सामने आई है। लापरवाही इतनी भारी पड़ी की उससे मरीज की जान चली गई। अपने 4 दिन पुराने घाव का इलाज करवाने के लिए मरीज अस्पताल पहुंचा था। इस घाव को ठीक करने के लिए घाव सहित पूरे पैर में मलहम लगा कर पट्टी बांध देने से उसका पूरा पैर पक गया और उसकी जान चली गई।

सीहोर ट्रामा सेंटर में बिजलोन गांव का रहने वाला मनोहर वंशकार पृष्ठभाग में हुए घाव का इलाज कराने आया था। जांच करने के उपरांत डॉक्टर ने कहा कि छोटा ही घाव है जल्दी ठीक हो जाएगा पट्टी करवा लो।

Must Read- 500 किलोमीटर तक पत्नी के शव साथ सफर करता रहा पति, टीटीई के आने पर हुआ मामले का खुलासा

परिजनों का कहना है कि मनोहर को भर्ती करने से पहले घाव छोटा ही था। ड्यूटी पर जो डॉक्टर था उसने पूरे पैर में मरहम लगाकर पट्टी बांध दी। इस वजह से मनोहर का पैर सड़ गया और उसकी जान चली गई। लापरवाही की वजह से पस पूरे शरीर में फैल गया और किडनी फेल हो जाने की वजह से मरीज की मौत हो गई।

मृतक मनोहर की 4 बेटियां और तीन बेटे हैं और वह अकेला ही घर में कमाने वाला था। बेटी प्रीति ने कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए बताया है कि डॉक्टर ने दवाई पूरे घाव और पैर पर लगा दी थी जिसके बाद पैर और पेट में सूजन आ गई थी। डॉक्टर को दिखाने के बाद पिता को भर्ती किया लेकिन वह नहीं बचे। ट्रामा सेंटर की लापरवाही के चलते मेरे पिता की जान गई है।