कलेक्टर के मार्गदर्शन में इस जिले ने पाया प्रधानमंत्री आवास में पहला स्थान

विकास योजनाओं के कियान्वयन में जिला पंचायत सीहोर अग्रणी

 सीहोर। अनुराग शर्मा।

      प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है 2022 तक हर गरीब को प्रधानमंत्री आवास मिले इसी को देखते हुए मध्यप्रदेश के सीहोर जिले में ग्रामीण विकास विभाग की महत्तवपूर्ण योजनाओं के क्रियान्वयन में जिला पंचायत सीहोर का शानदार प्रदर्शन जारी है। वर्ष के अंत में उपलव्ध आंकडों के अनुसार प्रधानमंत्री आवास योजना में वर्ष 2019-20 के लक्ष्य के विरूद्व 71 प्रतिशत आवास पूर्ण कर जिला प्रदेश में प्रथम स्थान पर कायम हैं। विदित है कि वर्ष 2019-20 में जिले को 6962 आवास का लक्ष्य प्राप्त हुआ था जिसके विरूद्व 31 दिसंबर तक 4911 आवास पूर्ण कर लिए गये हैं। इसी प्रकार योजना प्रारंभ वर्ष 2016-17 से वर्ष 2019-20 तक जिले को प्राप्त कुल लक्ष्य 335561 के विरूद्व 29353 आवास पूर्ण कर सीहोर ने प्रदेश के सर्वश्रेष्ठ पांच जिलों में अपना स्थान बनाया है।

      इसी प्रकार महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार ग्यारंटी योजना अंतगर्त वित्तिय वर्ष 2019-20 के लक्ष्य 24 लाख मानव दिवस के विरूद्व माह दिसंबर के अंत तक 18.14 लाख मानव दिवसों का सृजन किया जाकर कुल 76 प्रतिशत उपलव्धि अर्जित की गयी है इस दौरान 10035 कार्य पूर्ण कराये गये हैं तथा 3223.54 लाख रू. मजदूरी पर एवं 1827.54 लाख रू. सामग्री पर व्यय किये गये हैं। योजना अंतगर्त वर्षांत तक 98.55 प्रतिषत भुगतान समय पर पूर्ण कर जिला प्रदेश भर में टांइमली पेमेंट में प्रथम स्थान पर कायम है। जिला पंचायत सीइओ अरूण कुमार विश्वकर्मा ने बताया है कि जिले की इन उपलव्धियों का श्रैय जिला कलेक्टर अजय गुप्ता के सतत मार्गदर्शन एवं पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के मैदानी अमले की कढ़ी मेहनत को दिया है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि विभाग के सभी कर्मचारी एवं अधिकारी भविष्य में भी एक टीम के रूप में काम करेंगे और सभी विकास योजनाओं के समयबद्व क्रियान्वयन के माध्यम से ग्रामीणों का जीवन बेहतर बनाने में अपना योगदान  दिया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here