MP: ‘दीदी’ के नाम से मशहूर पूर्व केंद्रीय मंत्री विमला वर्मा का निधन, कांग्रेस में शोक की लहर

Former-Union-Minister-Vimala-Verma-'Didi'-passes-away

सिवनी।  मध्यप्रदेश की पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस की दिग्गज नेत्री कुमारी विमला वर्मा ‘दीदी’ का निधन हो गया है।वे लंबे समय से बीमार चल रही थी। गुरुवार देर रात 90 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। दीदी के निधन के बाद कांग्रेस में शोक की लहर है।आज सिवनी में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा  वही वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट में लिखा है कि कॉंग्रेस की वरिष्ठ नेता सुश्री विमला वर्मा के दुखद देहान्त का समाचार मिला। सुनकर बेहद दुख हुआ। मुझ पर उनकी सदैव असीम कृपा रही है। ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।

अपने कड़े अनुशासन के लिए पहचानी जाने वाली विमला वर्मा प्रदेश में स्वास्थ्य, सिंचाई और ऊर्जा सहित कई महत्वपूर्ण विभागों की कैबिनेट मंत्री रहीं। 1991 में वो पहली बार 10 वीं लोकसभा के लिए सिवनी लोकसभा सीट से संसद चुनी गयीं, उसके बाद 1998 में दोबारा सांसद बनीं। दीदी केंद्र में मंत्री रहीं। 1 जुलाई 1929 को नागपुर महाराष्ट्र में जन्मी पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी विमला वर्मा ने सिवनी में एम.ए, बी.टी, तक शिक्षा ग्रहण की। इसके बाद वह सामाजिक क्षेत्र में सक्रिय हो गई। कांग्रेस शासनकाल में विमला वर्मा कई अहम पदों पर काम कर चुकी थी। लोग उन्हें दीदी के नाम से जानते थे।  वह 1963 से 1967 तक सिवनी जिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष रही। इसके बाद सिवनी जिले के केवलारी विधानसभा से कांग्रेस पार्टी की टिकट पर विधायक बनी। वह मध्यप्रदेश कांग्रेस सरकार में मंत्री भी रही। इसके बाद विमला वर्मा ने नरसिम्हा राव सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री का पद भी संभाला।