Sex Racket : बांग्लादेशी लड़कियों से देह व्यापार कराने वाले मुख्य सरगना का भांडाफोड़, 7 गिरफ्तार

मामले में पुलिस की पूछताछ में दलाल ने बताया कि वह बांग्लादेश से युवतियों को इंदौर लाकर दूसरे इलाकों में सप्लाई करता था।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। पुलिस ने अवैध तरीके से लड़कियों को बांग्लादेश से भारत लाकर देह व्यापार के मामले में 5 आरोपी व 3 लड़कियों को गिरफ्तार किया है। बता दें, साल 2020 में इंदौर के विजय नगर थाना क्षेत्र में 21 बांग्लादेशी लड़कियों को देह व्यापार के मामले में पुलिस ने पकड़ा था, जिसके बाद उनके तार एमडी ड्रग्स मामले से जुड़े पाए गए थे। नशे और देह व्यापार के अपराध में पुलिस ने लड़कियों के अलावा 33 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

ये भी देखें- इंदौर से जबलपुर जा रही महिला के पर्स में मिले 2 जिंदा कारतूस, आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज

वहीं पूछताछ के दौरान पुलिस के सामने विजय दत्त और उज्ज्वल ठाकुर के नाम सामने आए थे। 15 नवंबर को इंदौर की विजय नगर पुलिस ने जब एक होटल में कार्रवाई की थी तो देह व्यापार में लिप्त 5 लड़कियों को गिरफ्तार किया था। जिनमें से 3 लड़कियों की पहचान को लेकर जांच की जा रही थी। इस दौरान भी इंदौर की विजय नगर पुलिस के सामने विजय दत्त और उज्ज्वल ठाकुर का नाम सामने आया। फिलहाल, मामले में पुलिस ने देह व्यापार कराने वाले मुख्य सरगना को गिरफ्तार कर लिया है।

विजय दत्त उर्फ मोमिन निकला गैंग का सरगना

बता दें कि इंदौर पुलिस ने एक हफ्ते तक मुंबई में डेरा डाल रखा था। इस दौरान पुलिस ने अलग-अलग लोगों से विजय दत्त के बारे में पता लगाया। हालांकि मामला राष्ट्रीय सुरक्षा का था तो राष्ट्रीय स्तर की जांच एजेंसी ने भी इंदौर पुलिस के मिशन पर सयुंक्त रूप से काम किया। जिसके बाद बांग्लादेशी सैक्स रैकेट का बड़ा सरगना पुलिस गिरफ्त में आया। खुद को विजय दत्त बताने वाला गैंग का सरगना असली नाम मोमिन है और बांग्लादेश के बवान जिले के कसई का रहने वाला है। दस साल बांग्लादेश छोड़कर वो मुंबई आया और उसने फर्जी राशन कार्ड के जरिये अपना नाम परिवर्तित करवा लिया। जिसके बाद मोमिन न राशन कार्ड पर बल्कि आधार सहित अन्य दस्तावेजों पर विजय दत्त पिता विपुल दत्त बन गया।

मुंबई मे की दूसरी शादी

इतना ही नहीं उसने मुंबई में दूसरी शादी भी कर ली वहीं उसकी पहली पत्नि महिलाओं से जुड़ा एक एनजीओ चलाती है। जिसके माध्यम से हर साल हजारों लड़कियों को बांग्लादेश से भारत लाया जाता है। मोमिन की बांग्लादेशी पत्नि अनाथ और कमजोर आर्थिक स्थिति वाली लड़कियों को चंगुल में फंसाकर भारत पहुंचाती थी। मोमिन उर्फ विजय दत्त उन लड़कियों से देशभर में देह व्यापार करवाता था। वो लड़कियों के हिस्से में कम पैसे देता था मोटी कमाई का बड़ा कभी हुंडी तो कभी हवाला के जरिये बांग्लादेश पहुंचा देता था।

बॉर्डर पार करा कर लड़कियों से कराता था देह व्यापार

बता दें कि इंदौर पुलिस ने मुंबई से दलाल मोमिन को गिरफ्तार किया जो फर्जी तरीके से विजय दत्त नाम रखकर मुंबई में हिंदुस्तानी पत्नि के साथ रहता था। मोमिन के गिरोह में देश भर में कई दलाल शामिल हैं जो बांग्लादेश से लड़कियों को बॉर्डर पार करा कर देह व्यापार के लिए अलग अलग स्थानों पर भेज देते थे।

इंदौर के पूर्वी क्षेत्र के एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि आरोपी मोमिन उर्फ विजय दत्त ने 10 साल में हजारो लड़कियों को देह व्यापार में धकेला है। वो लड़कियों को गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश सहित देश के सभी राज्यों में भेजता था। मध्यप्रदेश के खंडवा, भोपाल, खरगोन, अन्य जिलों में भी इसके दलाल सक्रिय हैं। वहीं मध्यप्रदेश में भी वो अब तक हज़ारों की संख्या में बांग्लादेशी लड़कियों को देह व्यापार के लिए भेज चुका है। फिलहाल, पुलिस ने गिरोह के 5 पुरुष और 3 महिला आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसे इंदौर पुलिस को मिली राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामले में बड़ी कामयाबी माना जा रहा है, क्योंकि पुलिस ने अंतर्राष्ट्रीय देह व्यपार गैंग का खुलासा किया है। गैंग के मुख्य सरगना मोमिन और उसके साथियों को पुलिस गिरफ्तार कर इंदौर लाई है।

राष्ट्रीय स्तर की एजेंसी व पुलिस की संयुक्त कार्रवाई

एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि चूंकि मामला राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा था लिहाजा, मामला राष्ट्रीय स्तर की एजेंसीज भी पुलिस के साथ कार्रवाई में शामिल थी। उन्होंने बताया खुफिया तरीके से बांग्लादेश बॉर्डर पार कराने वाले गिरोह के सदस्यों के तार बार्डर के आस पास के लोगो से जुड़े हैं। वहीं वो लड़कियों को भारत लाकर उन्हें पुलिस की धमकी देकर ब्लैकमेल कर देह व्यापार करवाते थे। इतना ही नहीं लड़कियों की क्षमता बढ़ाने के लिए उन्हें एमडी ड्रग्स का आदि बना दिया जाता था। फिलहाल, पुलिस मुख्य सरगना, आरोपियों से कड़ी पूछताछ करेगी ताकि अंतरराष्ट्रीय गिरोह से जुड़े अन्य लोगों का भी खुलासा हो सके।