आत्महत्या के मामले में पुलिस ने किया पति को गिरफ्तार, भेजा जेल

उमंग सिंघार

शहडोल, अखिलेश मिश्रा। जिले में एक विवाहिता महिला में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। दरअसल, मृतिका का पति अभियुक्त रामलखन हमेशा शराब पीकर गाली-गलौज कर उसके साथ मारपीट करता था, साथ ही शारीरिक व मानसिक रूप से उसे प्रताड़ित भी करता था, जिससे तंग आकर महिला ने काल के गाल में समाना सही समझा और फंसी लगा ली।  ब्यौहारी न्यायालय के न्यायिक दंण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी द्वारा थाना ब्यौहारी में अभियुक्त रामलखन कोल उर्फ लखन पिता मोतीलाल कोल उम्र 27 वर्ष निवासी ग्राम मैरटोला को पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया था, जिसके बाद धारा 498ए, 306  में न्यायालय द्वारा अभियुक्त को न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेज दिया गया है।

फांसी पर झूली महिला 

संभागीय जनसंपर्क अधिकारी नवीन कुमार वर्मा ने बताया कि 11 सितम्बर को सूचनाकर्ता केशव कोल ने इस आशय से रिपोर्ट दर्ज कराई कि अभियुक्त रामलखन कोल की शादी मृतिका के साथ 10-12 वर्ष पूर्व हुई थी, जिनके दो बच्चे है। 16 अगस्त को मैं करीब 11 बजे रोपा लगाने दूसरे गांव गया था। शाम को वापस आया तो मेरी पत्नी बोली कि अभियुक्त की पत्नी (मृतिका) नहीं मिल रही है। तब हम परिवार के सभी लोगों ने आस-पास एवं घर में ढूंढा तो अभियुक्त के घर में पटऊहा के ऊपर चढ़ के देखा तो अभियुक्त की पत्नी (मृतिका) ने एक कपड़ा गले में बांधकर फांसी लगा ली थी। उक्त रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर जांच में लिया गया।

फोन पर बताई थी अपनी आपबीती 

मृतिका विवाहिता की श्रेणी में होने से एवं मृत्यु होने के कारण से जांच अनुविभागीय अधिकारी पुलिस को प्राप्त हुई। मर्ग जांच दौरान मृतिका के मायके पक्ष से कथन लिये गये जिन्होने अपने-अपने कथन में बताया कि मृतिका की शादी आज से करीब 10-12 वर्ष पहले मोतीलाल के लड़के अभियुक्त रामलखन कोल के साथ हुई थी। शादी गमना के बाद से लड़की अपने ससुराल घर में रहती थी। करीब दो वर्ष पूर्व मृतिका का पति अभियुक्त रामलखन कोल ने शराब पीकर गाली गलौज मारपीट करने लगा, तब यह सब बाते मृतिका ने मोबाइल फोन के माध्यम से अपने भाई तथा अपने मायके घर के लोगों को बताई थी।

हमेशा करता था प्रताड़ित

16 अगस्त  को मृतिका के मामा के लड़के ने शाम करीब मृतिका के भाई को फोन के माध्यम से सूचना दी कि बहन (मृतिका) ने ससुराल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। अगले दिन मृतिका के घर परिवार के लोग लड़की के ससुराल घर गए और देखा कि लड़की (मृतिका) ससुराल घर की परछी में मृत हालत में पड़ी हुई है और आगे अपने कथनों में यह भी बताया गया कि मृतिका का पति अभियुक्त रामलखन कोल हमेशा शराब पीकर गाली-गलौज कर मारपीट करता था तथा वह शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करता था इन। सभी कारणों से लड़की ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। दी गई उक्त सूचना एवं साक्षीगण के कथनों के आधार पर पुलिस द्वारा अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।