शहडोल। मो अनीश तिगाला।
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल आज शहडोल दोरा था विभागीय बैठकों समीक्षा के बाद में पत्रकारों को संबोधित करना था मंत्री पत्रकार वार्ता के लिए दोपहर 2:00 का कार्यक्रम जनसंपर्क विभाग द्वारा सर्किट हाउस में रखा गया था लेकिन 3:30 बजे तक मंत्री नहीं पहुंचे।जिस कारण पत्रकार नाराज होकर सर्किट हाउस से बाहर निकल आये। कलेक्टर ललित दाहिमा के माध्यम से यह खबर ग्रामीण और पंचायत विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल तक पहुँची।बैठक में शामिल मंत्री ने बैठक से बाहर निकलकर सीधे कलेक्टर कार्यालय पहुँचे और पत्रकारों के बीच गाड़ी से उतरकर पहुंच गए।

मंत्री ने देर के लिए सार्वजनिक तौर पर देरी के लिए माफी माँगी और देर होने के कारणों से अवगत कराया।.मंत्री ने पत्रकारों से कलेक्टर कार्यालय भवन के बाहर प्राँगण में चाय पीने की आई चर्चा को स्वीकार करते हुए कहा जरूर पियेंगे।.यह कह कर कमलेश्वर पटेल वहीं कुर्सी और बैठने की जगह न होने के कारण जमीन पर ही बैठ कर नाराज पत्रकारों का दिल जीत लिया।शहडोल के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब किसी कैबिनेट स्तर के मंत्री ने प्रोटोकॉल को तोड़कर इस तरह जमीन पर बैठकर चर्चा की हो।यही नही मंत्री के सड़क पर बैठकर चर्चा शुरू करते ही कई पीड़ित अपनी शिकायत लेकर पहुँच गए।कमलेश्वर ने उनकी शिकायत लेने व सुनने के बाद कार्यवाही का आश्वासन भी दिया।