MP : सालों बाद भाजपा के इस किले मे सेंध लगाने में कामयाब हुई कांग्रेस, 3 में 2 सीटें छीनी

1544
Congress-managed-to-break-into-this-bjp-fort-after-years

शाजापुर।

सालों बाद मध्यप्रदेश का विधानसभा चुनाव दिसचस्प रहा। 11 दिसंबर को आंकडे दिनभर ऊपर-नीचे होते रहे है, बावजूद इसके कोई बहुमत तक नही पहुंचा।हालांकि भाजपा-कांग्रेस के सरकार बनाने की कवायद तेजी से चल रही है, आज स्पष्ट हो जाएगा कि किसकी सरकार बनेगी। लेकिन इन सब के बीच कई ऐसी सीटे रही जिनपर कांग्रेस अपना कब्जा बनाने में कामयाब रही। हम बात कर रहे शाजापुर की जहां कांटे की टक्कर के मुकाबले के बीच सालों बाद कांग्रेस दो सीटों पर कब्जा जमाने में कामयाब रही।

दरअसल, शाजापुर में तीन विधानसभा सीटे है। शाजापुर, शुजालपुर और कालापीपल। अबतक तीनों पर भाजपा का दबदबा रहा,लेकिन इन बार कांग्रेस इनमें से दो सीटों पर अपना पकड़ मजबूत करने में कामयाब रही। शाजापुर और कालापीपल जहां कांग्रेस के पाले में आई वही शुजालपुर की सीट बची रही।इनमें सबसे ज्यादा शाजापुर सीट चर्चित रही। यहां कांग्रेस के हुकुमसिंह कराड़ा ने रिकॉर्ड वोटों से जीत हासिल की।कांग्रेस के कराडा को 89940 और भाजपा के अरूण भीमावद को 44961 वोट मिले।कराडा ने निकटतम प्रतिद्वंदी से भीमावत को 44979 से हराया।

वही शुजालपुर में इंदरसिंह परमार भाजपा की साख बचाने में कामयाब रहे। कई उतार-चढ़ाव के बीच भाजपा के इंदरसिंह परमार ने कांग्रेस के रामवीरसिंह सिकरवार को शिकस्त दी। परमार ने 78952 और निकटतम उम्मीदवार सिकरवार ने 73329 मत प्राप्त किए। खैर दोनों के बीच वोटों का अंतर ज्यादा नही रहा। परमार 5623 अधिक वोटों से विजयी हुए। इसके अलावा कालापीपल में भी कांग्रेस ने खूब रंग जमाया। कांग्रेस पार्टी के स्थानीय नेताओं के भारी विरोध के बावजूद कुणाल चौधरी ने भारी मतों से जीत दर्ज की।चौधरी ने 2008 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के विजयी प्रत्याशी बाबूलाल वर्मा को 13710 मतों से शिकस्त दी। चौधरी को कालापीपल विधानसभा के कुल 86614 मतदाताओं ने अपना वोट दिया, जबकि भाजपा के उम्मीदवार वर्मा को 72904 मत मिले। रात 9 बजे शाजापुर रिटर्निंग अधिकारी यूएस मरावी ने हुकु मसिंह कराड़ा, कालापीपल के रिटर्निंग अधिकारी पार्थ जायसवाल ने कु णाल चौधरी, शुजालपुर के रिटर्निंग अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा ने इंदरसिंह परमार को प्रमाण पत्र दिया।

इसलिए खास रहा ये चुनाव-

– शाजापुर व आगर जिले के प्रमुख 10 भाजपा-कांग्रेस के प्रत्याशियों में से सात करोड़पति रहे। सबसे अमीर शुजालपुर से कांग्रेस प्रत्याशी रामवीरसिंह सिकरवार। जिनके पास करीब 12 करोड़ रुपए की संपत्ति। कु ल 27 वाहन भी इनके पास हैं।

– उम्मीदवार करोड़पति होने के साथ महंगी गाड़ी और हथियार रखने के भी शौकीन। सोना भी अच्छा पहनते हैं।

– अधिकांश उम्मीदवार अच्छे पढ़े-लिखें। सबसे ज्यादा कालापीपल से कांग्रेस प्रत्याशी कु णाल चौधरी पढ़े-लिखे हैं।

– अधिकांश के ऊपर आपराधिक प्रकरण भी दर्ज हैं।

विधानसभा 2013 में प्रतिशत :

शाजापुर विधानसभा

अरुण भीमावद भाजपा 47.43 प्रतिशत

हुकुमसिंह कराड़ा कांग्रेस 46 .24 प्रतिशत

शुजालपुर विधानसभा

जसवंतसिंह हाड़ा भाजपा 40.36 प्रतिशत

महेंद्र जोशी कांग्रेस 34.19 प्रतिशत

कालापीपल विधानसभा

इंदरसिंह परमार भाजपा 51.38 प्रतिशत

केदारसिंह मंडलोई कांग्रेस 44.8 5 प्रतिशत

विधानसभा 2008 में प्रतिशत

शाजापुर विधानसभा

जेपी मंडलोई भाजपा 42.79 प्रतिशत

हुकुमसिंह कराड़ा कांग्रेस 49.8 1 प्रतिशत

शुजालपुर विधानसभा

जसवंतसिंह हाड़ा भाजपा 51.6 1 प्रतिशत

महेंद्र जोशी कांग्रेस 42.59 प्रतिशत

कालापीपल विधानसभा

बाबूलाल वर्मा भाजपा 49.8 1 प्रतिशत

सरोज मनोहरसिंह कांग्रेस 38 .77 प्रतिशत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here