सिंघम ADM की बढ़ी मुश्किलें, सरेआम थप्पड़ मारने पर मानवाधिकार आयोग ने किया तलब

निरीक्षण के दौरान कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन कर अब्दुल राजिक की दुकान खुली देकर उन्होंने नाराजगी जाहिर की थी।

शाजापुर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) के शाजापुर (shajapur) में घटी घटना ने अब तूल पकड़ लिया है। जहां सिंघम एडीएम (Singham ADM) द्वारा एक दुकानदार को जोरदार थप्पड़ रसीद कर दिया गया था। ADM द्वारा यह कार्रवाई नियम के उल्लंघन करने के बाद की गई थी। ADM ने दुकानदार को चांटा मार दिया था। अब इस बात पर मानव अधिकार आयोग (Human Rights Commission) ने संज्ञान लिया है। आयोग ने इस मामले में उज्जैन कमिश्नर (ujjain commissioner) को 10 दिन में प्रतिवेदन सौंपने की बात कही है।

दरअसल मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेंद्र कुमार जैन ने मामले की गंभीरता को लेते हुए उज्जैन कमिश्नर से प्रतिवेदन की मांग की है। ज्ञात हो कि शाजापुर में कोरोना कर्फ्यू की स्थिति का जायजा लेने के लिए एडीएम मंजूषा विक्रांत रॉय (ADM Manjusha Vikrant Roy) निरीक्षण करने के लिए निकली।

Read More: मंत्री जी पर लगा सवा करोड़ की जमीन 20 लाख में खरीदने का आरोप, विपक्ष ने साधा निशाना

निरीक्षण के दौरान कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन कर अब्दुल राजिक की दुकान खुली देकर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। साथ ही दुकान में काम करने वाले एक लड़के पर थप्पड़ रसीद कर दिया जिसके बाद वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल किया गया था।

सिंघम एडीएम द्वारा किशोर दुकानदार को थप्पड़ जड़ने की सोशल मीडिया पर पूर्ण रूप से भर्त्सना की गई थी। पहले छत्तीसगढ़ के सूरजपुर के कलेक्टर द्वारा एक युवक को सरकार ने मोबाइल तोड़ने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा उसे तत्काल हटा दिया गया था इस मामले में सिंघम अधिकारी एडीएम को मानवाधिकार आयोग ने तलब किया है।