फिर शुरू हुआ मिलावट के खिलाफ अभियान, नकली दूध फैक्ट्री पर छापा, दो गिरफ्तार

श्योपुर। मध्य प्रदेश में एक बार फिर फर्जी दूध बनाने वाले कारखानों पर छापामार कार्रवाई शुरू हो गई है। प्रदेश के श्योपुर जिले के अगरा थाना क्षेत्र में नकली दूश बनाने वाली फैक्ट्री पर छापामार कार्रवाई की गई। यहां से पुलिस को नकली दूध बनाने में इस्तेमाल होने वाली सामग्री भी मिली है। पुलिस ने मौके से दो आरोपियों की भी गिरफ्तार किया है 

जिले के अगरा के जंगल के खाड़ी गांव में संचालित इस फैक्ट्री पर जिला एवं पुलिस प्रशासन की टीम ने दबिश देकर इस नकली दूध बनाने वाली फैक्ट्री का भंड़ाफोड़ किया। फैक्ट्री से नकली दूध बनाने के इस्तेमाल में आने वाले 15 टिन पाम आइल, कास्टिक पोटास 60 किलोग्राम, रिफाइंड टिन और एक ड्रम केमिकल तथा 20 किलोग्राम लिकुइड डिटर्जेंट के अलावा अन्य सामान जप्त किया गया। पुलिस ने इस मामले में हरिओम गुर्जर और उसके एक साथी मनोज बंसल को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि हरिओम ने मनोज के साथ यह कारोबार अगरा के जंगल के खाड़ी गांव में अपनी ससुराल में शुरू किया। यहां से यह लोग आसपास के गांवों से दूध लेकर उसकी क्रीम निकालकर, बचे दूध में केमिकल डालकर उसे 5 हजार लीटर तक रोजाना बना कर मिनी टैंकर से मुरैना और ग्वालियर भेजते थे।