ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 2 करोड़ से अधिक के फ्रॉड का खुलासा

cyber-fraud-case-increasing-

श्योपुर

श्योपुर में ऑनलाइन ठगी की वारदात को अंजाम देने वाला इंटर स्टेट साइबर गैंग का पर्दाफाश हुआ है। श्योपुर पुलिस की एसआईटी (स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम) ने गिरोह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के हत्थे चढ़े साइबर ठग गिरोह से करीब दो करोड़ रुपये की ऑनलाइन ठगी की वारदात किए जाने की जानकारी मिली है। इस गैंग का सरगना पिछले दिनों भोपाल में पकड़ा जा चुका है। बहरहाल पुलिस पकड़े गए गैंग के सदस्यों से कड़ी पूछताछ कर रही है।

एसपी संपत्त उपाध्याय ने इस बड़ी सफलता का खुलासा किया। एसपी ने बताया कि साइबर ठग गिरोह का इंटर स्टेट कनेक्शन हैं। इस गिरोह के तार देश के कई शहरों में फैले हैं। खास बात यह है कि गिरोह में शामिल सदस्य काफी शातिर है। इन्होंने ऑनलाइन वारदात करने के तरीके खुद ईजाद किए। बाद में देशभर में अपना जाल फैलाया। गिरोह के सदस्य मोबाइल टावर लगवाने सहित लोन दिलाने का झांसा देकर ऑनलाइन वारदातों को अंजाम देते थे। इसके अलावा एटीएम बंद होने की बात कहकर लोगों से पिन व ओटीपी जुटाकर भी गिरोह ने अनेक वारदातें की है। यह गैंग लोन दिलाने व मोबाइल टावर लगवाने के लिए लोगों को शिकार करके उनसे प्रोसेसिंग फीस, साइड सर्वे, फाइल चार्ज के नाम पर मोटी रकम वसूलता था। इनके जाल में फंस चुके कई लोग इस गैंग पर अपने पैसे वापस लेने का दवाब बनाते थे तो गैंग के सदस्य प्रोजेक्ट कैंसिलेशन के नाम पर भी मोटी रकम वसूलते थे। अब तक गैंग के द्वारा करीब 2 करोड़ रुपए की साइबर ठगी करने की घटनाएं सामने आई हैं। इनके पास से लैपटॉप से लेकर मोबाइल आदि का जखीरा मिला है जिसमें फिंगर स्क्रैनर मशीन सहित बैंकों के अकाउंट से जुड़ी जानकारी भी है।

इस गैंग को पकड़ने में श्योपुर पुलिस की एसआईटी टीम ने बेहतरीन काम किया है। इस टीम को एडिशनल एसपी पीएल कुर्वे और एसटीओपी रामतिलक मालवीय ने लीड किया था। टीम में शामिल देहात थाना प्रभारी गौरव शर्मा, उप निरीक्षक अंशुल अरोरा, मानपुर थाना प्रभारी शिवराम कंषाना, ढोढर थाना प्रभारी विकास तोमर सहित प्रधान आरक्षक संजय यादव, दिनेश्वरराय पैकरा, हरिओम शर्मा, आरक्षक धर्मेंद्र जादौन, कुलदीप जोशी, कुलदीप जाट, देवेंद्र गुर्जर, केशव रावत, दिनेश कौशल आदि की गैंग का पर्दाफाश करने में सराहनीय भूमिका रही है।