अग्रवाल समाज के पदाधिकारियों पर FIR मामला : पुलिस ने वापस ली एफआईआर

अग्रवाल समाज ने नियम विरुद्ध बताते हुए एफआईआर निरस्त करने की मांग करते हुए कोलारस में रविवार को राज्यपाल के नाम तहसीलदार अखिलेश शर्मा को ज्ञापन सौंपा है।

शिवपुरी, मोनू प्रधान। शिवपुरी (Shivpuri) के कोलारस (Kolaras) में अग्रवाल समाज द्वारा अग्रसेन जयंती पर जुलूस निकालने पर शिवपुरी पुलिस (Shivpuri Police) ने समाज के पदाधिकारियों के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज की गई थी। जिसे अग्रवाल समाज ने नियम विरुद्ध बताते हुए एफआईआर निरस्त करने की मांग करते हुए कोलारस में रविवार को राज्यपाल के नाम तहसीलदार अखिलेश शर्मा को ज्ञापन सौंपा है। वहीं एफआईआर निरस्त न करने पर पूरे प्रदेश में आंदोलन की चेतावनी दी थी। वहीं अब उस FIR को आज पुलिस के द्वारा वापस लेने की घोषणा कर दी गई।

यह भी पढ़ें…इंदौर में दो पक्षों में जमकर मारपीट, दुकान हटाने को लेकर हुआ विवाद, पुलिस छावनी बना गांव

बता दें कि पदाधिकारियों पर हुई एफआईआर मामले का पटाक्षेप करते हुए, पुलिस अधिकारियों ने मध्य देशीय धर्मशाला पर आकर 3 दिन में एफआर लगाने का दिया आश्वासन है। साथ ही घटी परिस्थितियों के लिए दुःख जताया है।

अन्य जुलूसों पर क्यों नहीं की एफआईआर
समाज के लोगों का कहना है कि उन्होंने जुलूस निकालने से पहले प्रशासन से अनुमति ली और कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए जुलूस निकाला। जुलूस निकालने के बाद प्रशासन ने अचानक परमिशन निरस्त करते हुए समाज के पदाधिकारी गौरव सिंघल, राकेश गर्ग, प्रवीण गोयल, पदम जैन के खिलाफ आपराधिक प्रकरण कायम कर लिया, जबकि दूसरे के लोगों ने उसी दिन बिना अनुमति जुलूस निकाल कर नियम तोड़े, बाबजूद इसके उनके खिलाफ कोई
कार्यवाही नहीं की गई। समाज ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा है। इस ज्ञापन में एफआईआर निरस्त न करने पर प्रदेश भर में आंदोलन करने की बात कही थी।

अग्रवाल समाज के पदाधिकारियों पर FIR मामला : पुलिस ने वापस ली एफआईआर अग्रवाल समाज के पदाधिकारियों पर FIR मामला : पुलिस ने वापस ली एफआईआर

यह भी पढ़ें…Morena News : ई-रिक्शा चालक के साथ हुई लूट का पुलिस ने किया पर्दाफाश, एक गिरफ्तार