कूनो नदी पर बनेगा डैम, 7 लाख बीघा फसल होगी सिंचित

शिवपुरी, शिवम पांडेय। जिले के कोलारस विधानसभा की बदरवास तहसील में कूनो नदी पर बांध बनाने के लिए डीपीआर का टेंडर खुल गया है। भोपाल की महाना वेंचर्स को डीपीआर बनाने का काम सौंपा गया है। यह कंपनी कोलारस, बदरवास, पोहरी सहित श्योपुर जिले के 400 से अधिक गांवों का सर्वे करेगी।

जिला पंचायत अध्यक्ष ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर ये मांग

बदरवास तहसील में कूनो नदी पर बांध बनने से कितने गांवों तक नहर से पानी पहुंच पाएगा, इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने का रास्ता पूरी तरह से साफ हो गया है। कोलारस विधायक वीरेंद्र सिंह रघुवंशी ने बताया कि गुरुवार को जल संसाधन विभाग के ईएनसी ऑफिस भोपाल जाकर ईएनसी मदन डावर से मुलाकात कर टेंडर खुलवाए हैं। डीपीआर बनाने के लिए मेसर्स महाना वेंचर्स भोपाल को यह कार्य सौंपा जा रहा है। अगली बारिश के पहले डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनकर स्वीकृति के लिए आगामी कार्यवाही होगी। इस प्रोजेक्ट को केंद्र की सिंचाई योजना में सितंबर 2019 में जुड़वा दिया था। योजना की स्वीकृति मिलने से शिवपुरी, कोलारस, पोहरी, श्योपुर कुल चार विधानसभाओं में सिंचाई के लिए किसानों को पानी मिलेगा। विधायक रघुवंशी का कहना है कि कूनो बांध की डीपीआर के लिए मुख्यमंत्री का काफी सहयोग मिल रहा है।

कोलारस विधायक वीरेंद्र सिंह रघुवंशी डीपीआर को लेकर ईएनसी से चर्चा करते हुए अनुमानित लागत 6 हजार करोड़ रुपए, 7 लाख बीघा में सिंचाई की उम्मीद विधायक रघुवंशी का मानना है कि बांध के साथ-साथ सिंचाई परियोजना की लागत 6 हजार करोड़ के आसपास रहने का अनुमान है। बांध बनता है तो इससे 7 लाख बीघा जमीन में सिंचाई की सुविधा की उम्मीद लगाई जा रही है। सिंचाई परियोजना पर काम तेजी से होता है तो आने वाले समय में यह कदम कोलारस विधानसभा में हरित क्रांति लाने वाला साबित होगा।