राशन न मिलने से ग्रामीणों ने किया शिवपुरी-पिछोर हाइवे पर चक्काजाम, पढ़े पूरी खबर

Shivpuri News : शिवपुरी जिले के पिछोर अनुविभाग में बीडीएस की कालाबाजारी आम हो गई है आज राशन की दुकानों से गरीबों को राशन ना मिलने की शिकायतें भी आम हो चुकी हैं ताजा मामला पिछोर अनु विभाग के बदरवास का है जहां बदरवास गांव में आदिवासी समाज के लोगों को 5 महीने से राशन न मिलने पर पिछोर शिवपुरी मार्ग पर चक्का जाम कर दिया।

ग्रामीणों ने बताया कि पिछले 5 महीनों से उचित मूल्य की दुकान के सेल्समैन ने नहीं दिया आदिवासियों को राशन नाराज आदिवासियों ने रोड पर कई घंटों तक चक्का जाम कर दिया। और चक्का जाम होने से आम लोगो को परेशानियों का सामना भी करना पड़ा। ग्रामीणों के चक्काजाम की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जाम हटवाने का प्रयास किया लेकिन वह खाद्य वितरण विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाकर जांच करने व सेल्समैन को हटाने की मांग पर अड़े रहे।

बता दे कि दीनदयाल अंत्योदय अन्य योजना और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में भारी भ्रष्टाचार को अंजाम दिया जा रहा है यहां गरीबों को एक ही योजना कर राशन उपलब्ध करा कर खानापूर्ति की जा रही है अगर बात अभी वर्तमान की करें तो यहां तीन माह से किसी भी तरह का राशन वितरण नहीं किया गया है उससे पहले भी चावल ही चावल वितरण किया गया हैं गरीबो के हक के गेंहू को बाजारों में ऊचे दामों में बेचा जा रहा हैं। साथ ही सोसायटी संचालक ने अशिक्षित ग्रामीणों का लाभ उठाकर मशीन पर अंगूठा लगवाकर दीनदयाल अंत्योदय अन्य योजना और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में भारी भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे है प्राथमिक लघु वनोउपज समिति मानपुरा के द्वारा शासकीय उचित मूल्य की दुकान संचालक की मनमानी चल रही है। यहां सेल्समैन व प्रबंधक की मिलीभगत के चलते कई महीने से गरीबों को राशन नहीं दिया गया है।

ग्रामीणों ने कई शिकायतें की पर नहीं हुई कार्रवाई

ग्रामीणों का कहना है कि राशन न मिलने की कई शिकायतें संबंधित अधिकारियों से की गई है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। मजदूरी इतनी निकल नहीं रही है कि बच्चों का पेट भर सकें। प्राथमिक लघु वन उपज समिति मनपुरा के प्रबंधक अमर सिंह परिहार व सेल्समैन मिलकर गरीब जनता के कई माह के राशन को हड़प लिया गया है।
शिवपुरी से शिवम पाण्डेय की रिपोर्ट