अछरौनी में शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर जमकर हो रही धांधली, ग्रामीण बोले- 4 महीने से नहीं मिला राशन

खनियाधाना, शिवम पाण्डेय। खनियाधाना (Khaniadhana) में अछरौनी शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर सरकारी राशन के कालाबाजारी की कवायद अभी भी जारी है। लॉकडाउन के समय से दौरान गरीब तबके तक राशन की व्यवस्था के लिए केंद्र सरकार ने मुफ्त में गेंहू-चावल और दाल देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत नवंबर तक पीला और संतरी राशन कार्डधारकों को 5 किलों गेंहू अथवा चावल प्रति व्यक्ति और 1 किलो दाल मुफ्त में देने का प्रावधान है, लेकिन अछरौनी (Achhroni) में शासकीय उचित मूल्य की दुकान परजमीनी हकीकत कुछ और ही नजर आ रही है।

यह भी पढ़ें…Khaniadhana: अमुहाय ग्राम पंचायत में करोड़ों का घोटाला आया सामने, सरपंच के फर्जी हस्ताक्षर कर हड़पी शासकीय धनराशि

3 महीने से नहीं मिला राशन
ग्राम के रहिवासी बताते हैं कि विगत 3 महीने से सरकारी राशन की दुकान से अनाज का एक दाना नहीं मिला है। वे कहते हैं कि जब भी वे राशन लेने जाते हैं जानकारी के अनुसार खनियाधाना के ग्राम अछरौनी पीडीएस में बड़ा राशन घोटाला निकलकर सामने आया है। जहां कोरोना काल से अब तक जिम्मेदारों ओर रसद माफियाओं ने मिलकर गरीबों के हक का राशन ऊचे दामों में व्यापारियों को खफा दिया है और बेचारी आवाम शिकवा-शिकायतों में उलझकर दर-दर की ठोखरें खाने के लिए विवश हैं।

दुकानदारों के लाइसेंस निरस्त करने की मांग
यहां बताना लाजिमी होगा कि कोरोनाकाल में ग्राम अछरौनी के सेल्समैन ने जिम्मेदार अधिकारियों के अनैतिक गठजोड़ से कोरोनाकाल में अंत्योदय का माल गरीबों की पहुंच से दूर होकर कालाबाजारी की भेंट चढ़ गया। कोविड-19 महामारी के कारण ओर उसके बाद मजदूरी और दिहाड़ी करने वाले मजदूरों के खाने के लाले पड़े हैं और ऐसे में ये दुकानदार राशन की कालाबाजारी कर रहे हैं। उन्होंने ऐसे दुकानदारों के लाइसेंस निरस्त करने की मांग की है। अब ग्रामीणों को ऐसी विपदा परिस्थिति में भी राशन नहीं मिल रहा है।

सीएम की योजनाओं की उड़ रही धज्जियां
खनियाधाना ग्राम अछरौनी में गरीबों को वितरित किए जाने वाले गेंहू, चावल, शक्कर, नमक और नीले मिट्टी तेल को खुले बाजार में बेचने की शिकायत खाद्य विभाग को कई महीने से मिल रही है लेकिन शिकायतों के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिससे संबंधित अधिकारियों की मिलीभगत होने का अनुमान लगाया जा रहा है खनियाधाना ग्राम अछरौनी खडीचरा में सेल्समैन ने उचित मूल्य की दुकान पर जमकर कालाबाजारी करने का मामला सामने आया है जहाँ गरीबों के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे सबसे महत्वपूर्ण योजना राशन वितरण योजना पर दुकान संचालक ने कोरोना कल से लेकर अभी तक के राशन की कालाबाजारी कर दी हालत तो यह है कि सीएम हेल्पलाइन लगाने के बाद भी ग्रामीणों की कोई सुनवाई नहीं हुई जहां मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की महत्वपूर्ण योजना राशन वितरण सहित सीएम हेल्पलाइन की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गई है।

यह भी पढ़ें…Bike पर बच्चों को बिठाते हैं तो जान लीजिये नए नियम, स्पीड और हेलमेट को लेकर निर्देश