खबर का असर: आबकारी वेयरहाउस कैंपस के बाहर लाखों का अवैध शराब बरामद, जांच टीम गठित

मामले की विस्तृत जांच को लेकर आबकारी अधिकारी वीरेन्द्र धाकड़ के द्वारा टीम बनाते हुए उचित कार्यवाही करने का कदम भी उठाया है।

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। एक बार फिर हमारी खबर का बड़ा असर हुआ बीते तीन दिनो जिले के पिछोर तहसील अंतर्गत आबकारी बेयर हाउस पर पिछोर पुलिश द्वारा जो अबैध शराब से भरे बाहन की जफ़्ती की कार्यवाही की गई। इस कार्यवाही का पिछोर पुलिश ने बाकायदा प्रेस नोट भी जारी किया। जिसमें उल्लेख किया गया है कि आरोपी पुलिश को देखकर भाग गए। अज्ञात आरोपियों के खिलाफ केश बनाकर मामला लगभग शांत हो गया। लेकिन आज आबकारी अधिकारी वीरेन्द्र धाकड़ के द्वारा टीम बनाते हुए उचित कार्यवाही करने का कदम भी उठाया है।

जिले के पिछोर क्षेत्र में आबकारी विभाग के गोदाम के आबकारी गोदाम के समीप हुई संदिग्ध हालातों में 1.80 लाख शराब के साथ स्कॉर्पियो वाहन जब्त करने की कार्यवाही पिछोर पुलिस के द्वारा की गई थी। जिस पर पुलिस भी इस शराब और वाहन मालिक को लेकर जहां पड़ताल कर रही है। वहीं दूसर ओर इस मामले में अब आबकारी विभाग भी आगे आया है और मामले को लेकर जांच दल बनाते हुए मामले की उचित जांच करते हुए संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही भी की जाएगी। इसे लेकर जिला आबकारी अधिकारी वीरेन्द्र धाकड़ को जानकारी लगी कि आबकारी विभाग के गोदाम के समीप से 1.80 लाख की शराब जब्त की गई। इसे लेकर वह स्वयं मौके पर पहुंचे।

यह पूरा मामला संदिग्ध नजर आया क्योंकि पुलिस के द्वारा बताया गया कि गोदाम के समीप से स्कॉर्पिया वाहन एवं 1.80 लाख रूपये की शराब जब्त की गई है। ऐसे में क्या यह शराब आबकारी विभाग के गोदाम से लाई गई अथवा कहीं और से, ऐसे में यह मामला संदिग्ध जान पड़ता है। इसलिए मामले की विस्तृत जांच को लेकर आबकारी अधिकारी वीरेन्द्र धाकड़ के द्वारा टीम बनाते हुए उचित कार्यवाही करने का कदम भी उठाया है।

Read More: मंडला में 9 माह की बच्ची ने दी कोरोना को मात

यह है संपूर्ण मामला

जिले के पिछोर में कोरोना वायरस की महामारी के कारण नगर में पूरी तरह लॉकडाउन लगा हुआ है। पुलिस रात-दिन लॉकडाउन का पालन कराने तथा लोगों को घरों में रहने के लिए मशक्कत कर रही है। इसी का फायदा उठाकर शराब माफिया पूरी तरह सक्रिय बने हुए हैं। जबकि शासन ने शराब दुकानों को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया हुआ है लेकिन शराब माफिया अपना कारोबार धड़ल्ले से चला रहें है। आबकारी अमला कार्रवाई की जगह चुप बैठा हुआ है। शासन प्रशासन ने शराब दुकानों को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित करते हुए सील की जा चुकी है बावजूद इसके नगर सहित क्षेत्र में बेधड़क शराब माफिया खुलेआम अवैध रुप से शराब बेच रहे हैं।

कुछ दिनों पहले पिछोर में पुलिस ने थाना क्षेत्र में आबकारी वेयरहाउस गोदाम की बाहर 1.80 लाख की अवैध शराब बरामद हुई थी जिसके साथ स्कॉर्पियो गाड़ी जप्त की है खास बात यह है कि गाड़ी आबकारी वेयरहाउस कैंपस के सामने से जप्त हुई है पुलिस ने फ़िलहाल केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी। आबकारी अधिकारी वीरेन्द्र धाकड़ के द्वारा टीम बनाते हुए उचित कार्यवाही करने का कदम भी उठाया है। पिछोर टीआई अजय भार्गव ने बताया कि गाड़ी के मालिक से संपर्क कर पूछताछ करेंगे कि यह पिछोर में कैसे पहुंची और शराब कहां और किसके द्वारा ले जाई जा रही थी।

वहीं इस मामले को लेकर अब आबकारी विभाग ने भी मामले की कमान संभाल ली है और इस गंभीर मामले को लेकर स्वयं आबकारी जिला अधिकारी वीरेन्द्र धाकड़ के द्वारा मौका मुआयना कर यह मामला संदिग्ध नजर आया और इसे लेकर उन्होंने ना केवल विभाग की ओर से गोदाम को सील किया गया बल्कि इस मामले की विस्तृत जांच करने को लेकर टीम भी गठित कर दी है जिसमें सहायक जिला आबकारी अधिकारी श्री राणा और उपनिरीक्षक चिनीत शर्मा शामिल है जो शीघ्र ही मामले की जांच कर प्रतिवेदन जिला आबकारी विभाग को भेंजेंगें।