राजस्थान से भेड़ चराने आये चरवाहे का बन्दूक की नोक पर अपहरण, मांगी 10 लाख की रकम

घटना के बाद फरियादी मुंशीराम के साथी गनपत राम की सूचना पर कोलारस पुलिस थाने में तीन अपहरणकर्ताओं के विरूध अपहरण एवं फिरौती की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर अपहरणकर्ताओं की खोज में पुलिस टीम जुटी हुई है।

शिवपुरी, मोनू प्रधान| कोलारस (Kolaras) थाना क्षेत्र के ग्राम गोरा टीला के पास गौमुख-वीसभुजी माता क्षेत्र के जंगल में मुंशीराम रेवाड़ी उम्र 38 वर्ष अपने साथी गनपतराम पुत्र भामराराम रेवाड़ी उम्र 50 वर्ष निवासी किशनपुरा के साथ भैड़ चरा रहा था। तभी तीन डकैत बंदूक के साथ आ धमके, तीनों ने गनपत के सामने मुंशीराम से कहा की तुझसे सुभाषपुरा के पास 5 लाख मांगे थे। तुने व्यवस्था नहीं की और तू सुभाषपुरा से इधर आ गया। अब मुंशीराम को छुड़ाने के लिये 10 लाख की व्यवस्था होने पर उसे छोड़ेंगे।

हथियारों की नौक पर अपहरण की घटना को अंजाम देने वाले अपहरणकर्ताओं के रवाना होते ही गनपत रेवाड़ी जंगल से पैदल कोलारस पहुंचा और घटना की सूचना कोलारस पुलिस को दी | तत्काल मामले की गंभीरता को देखते हुए कोलारस थाना प्रभारी संजय मिश्रा ने कोलारस एसडीओपी अमरनाथ वर्मा और पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल को अवगत कराते हुए घटना स्थल पर पहुंचे और जंगल मे सर्चिंग की|

घटना के बाद फरियादी मुंशीराम के साथी गनपत राम की सूचना पर कोलारस पुलिस थाने में तीन अपहरणकर्ताओं के विरूध अपहरण एवं फिरौती की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर अपहरणकर्ताओं की खोज में पुलिस टीम जुटी हुई है।