शिवपुरी/परवेज खान

कोरोना वायरस के चलते हुए लॉक डाउन का असर बच्चों की सेहत पर न पड़े और उन्हें पोषण आहार समय पर मिलता रहे इस उद्देश्य से शासन ने सभी आंगनवाड़ियों को पौष्टिक लडडू बच्चों को दिए जाने के निर्देश दिए है।  लेकिन महिला बाल विकास विभाग शिवपुरी द्वारा बरती गई बड़ी लापरवाही के चलते बच्चों के जान के साथ ही खिलवाड़ किये जाने का मामला सामने आया है।

नगर के वार्ड क्रमांक 35 स्थित आंगनवाड़ी द्वारा मंगलावर को बच्चों को पोष्टिक लड्डू देने की बजाय बूंदी के सड़े लडडू दिए गए जिसे खाने के बाद कुछ बच्चो ने उल्टियां तक कर दी। इसके बाद जब लड्डूओं को देखा गया तो उसमें इल्लियां ओर मरी मक्खियां पाई गई।इसके बाद अब घरवालें बच्चों की जान के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं  दूसरी ओर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ज्योति शाक्य का कहना है कि खाना बनाने वाले समूह ने यह सड़े लडडू पहुचाये थे और अब समूह संचालक भी गलती मान रहा है। लेकिन जब इस सम्बंध में महिला बाल विकास अधिकारी देवेंद्र सुनदियाल से बात की गई तो उन्होंने जांच उपरांत कारवाही की करने की बात कहकर मामले को टाल दिया।