पुलिस ने सीमा विवाद में भटकाया, युवक ने थाने में खुद को लगाई आग

शिवपुरी| पत्नी-बच्चों के गुम होने की रिपोर्ट लिखाने पहुंचे युवक ने थाने में आग लगा ली| युवक जलता हुआ थाना परिसर से सड़क पर पहुंच गया। आसपास मौजूद लोगों व पुलिसकर्मियों ने जैसे तैसे आग बुझाई और युवक को गंभीर हालत में जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है युवक की पत्नी अपने 2 साल के बेटे के साथ गुरूवार दोपहर से गायब है, जिसकी रिपोर्ट लिखाने के लिए युवक फिजिकल थाने गया हुआ था।  लेकिन दो थानों की सीमा के चक्कर में उसकी किसी ने फरियाद नहीं सुनी|  इस मामले में लापरवाही को लेकर फिजिकल थाना प्रभारी दीप्ति तोमर को निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच एएसपी गजेन्द्र सिंह कंवर को सौंपी गई है।

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित युवक राकेश जाटव पत्नी रीना और बेटे की गुमशुदगी दर्ज कराने थाने पहुंचा था। लेकिन फिजिकल थाना और कोतवाली पुलिस उसे उनके सीमा क्षेत्र का मामला न होने का हवाला देकर टालती रही| युवक ने पुलिस पर रिपोर्ट न लिखने का आरोप लगाया है। कोतवाली थाने से टरकाकर उसे दूसरे थाने जाने के लिए कहा जा रहा था। अस्पताल में भर्ती युवक राजेश जाटव ने मीडिया को बताया कि उसकी पत्नी और दो साल का बेटा गुरुवार की शाम से गायब है। पत्नी गुरुवार को दोपहर से अपने 2 साल के पुत्र के साथ घर से निकली और तब से लौट कर नहीं आई।  उसने बताया कि सुबह गुमशुदगी की शिकायत कराने सिटी कोतवाली पहुंचा, जहां थाना प्रभारी ने कहा ये मामला फिजिकल थाना क्षेत्र में आता है, तुम रिपोर्ट लिखाने वहां जाओ। राजेश सिटी थाने से फिजिकल थाने पहुंचा। यहां उसने अपनी समस्या बताई। लेकिन फिजिकल थाना प्रभारी ने उससे बोला कि यह मामला सिटी थाने वाले देखेंगे वहीं जाकर रिपोर्ट लिखाओ। इससे परेशान होकर युवक ने थाने के अंदर ही पेट्रोल डालकर आग लगा ली| इस घटना से पुलिस के हाथ पाँव फूल गए| जैसे तैसे उसे आग से बचाकर अस्पताल पहुँचाया  गया जहा उसका इलाज चल रहा है|