शिवपुरी : बंद के बाद भी सड़कों पर घूम रहे थे लोग, पुलिस ने की चालानी कार्रवाई 

खनियाधाना पुलिस ने टीम के साथ सभी चौराहों पर सघन वाहन व मास्क चेकिंग अभियान चलाया। जिससे नियमों की अनदेखी करने वालों पर पुलिस ने जुर्माना की कार्रवाई की।

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। बढ़ते कोरोना संक्रमण (Corona infection) और कोरोना मरीजों (Corona patients) को देखते हुए एक बार फिर से शिवपुरी (Shivpuri) जिले में कोरोना कर्फ्यू लगा दिया गया है। पहले 22 अप्रैल गुरूवार सुबह 6 बजे तक लागू था उसे आगामी 30 अप्रैल तक कर दिया गया है। इस बीच दूध, फल, सब्जी मेडिकल जैसी सुविधाओं पर छूट रहेगी। संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए बंद को आगे बढ़ाया गया है पर कुछ लोग अभी भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे है और सड़कों पर बेवजह घूम रहे है। जिसके चलते पुलिस ने जुर्माने की कार्रवाई की।

यह भी पढ़ें….दिल्ली में सांसों पर संकट, सीएम केजरीवाल ने कहा- कुछ ही घंटों की ऑक्सीजन बची

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने स्वयं आमजन से अपील की है कि जनता कर्फ्यू (Janta Curfew) में जनता स्वयं भागीदारी बनें और 30 अप्रैल तक घरों से बाहर नहीं निकले। यही कारण है कि मुख्यमंत्री के इस संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के लिए एक बार फिर से जिला प्रशासन के निर्देश पर जिले भर में जनता कर्फ्यू लागू किया गया। जनता कर्फ्यू को लेकर नगर खनियाधाना (Khaniadhana) में सभी प्रमुख बाजार बंद रहे। इससे सड़कों पर दूर-दूर तक सन्नाटा पसरा रहा।

यह भी पढ़ें….रायसेन में बढ़ाया कोरोना कर्फ्यू, 21 से 30 अप्रैल तक रहेगा बंद

हालांकि इस बीच सुबह से ही टीआई आलोक भदोरिया ने खनियाधाना पुलिस टीम के साथ सभी चौराहों पर सघन वाहन व मास्क चेकिंग अभियान चलाया। नियमों की अनदेखी करने वालों पर पुलिस ने जुर्माना की कार्रवाई की। तथा लोगों से कर्फ्यू का पालन करने की अपील की। इसके बाद दिन भर नगर में प्रशासन द्वारा मुनादी कराते हुए लोगों व व्यापारियों को सुबह से कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) पालन कराने के लिए सख्ती भी की गई और शाम को 4 बजे एसडीएम सहित तहसील के अधिकारियों की सायरन बजाती गाड़ियां नगर के प्रमुख मार्गों से निकली। वही सड़कों पर बेवजह घूमते लोगों पर चालानी कार्रवाई भी की गई और समझाइश देकर छोड़ा गया। साथ ही पुलिस ने कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों को कठोर कार्रवाई करने की बात कही। वही लोगों को घर में रहने और सरकार का सहयोग करने की भी अपील की गई।