मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया का कड़ा एक्शन, रिश्वतखोरी के आरोप में कोलारस तहसीलदार सस्पेंड

तहसीलदार ज्योति लक्षकार पर अवैध उत्खनन के मामले में रिश्वतखोरी की शिकायत मिलने पर प्रभारी मंत्री ने तहसीलदार को सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं।

 Kolaras Tehsildar suspended on charges of bribery : शिवपुरी जिले में रविवार को एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे प्रभारी मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया का कड़ा एक्शन देखने को मिला है। यहां कोलारस तहसीलदार ज्योति लक्षकार पर अवैध उत्खनन के मामले में रिश्वतखोरी की शिकायत मिलने पर प्रभारी मंत्री ने तहसीलदार को सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं। प्रभारी मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने कहा कि उन्होंने अवैध उत्खनन रोकने का संकल्प लिया है और वह अपने संकल्प पर कायम है। अवैध उत्खनन के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

ये है मामला
कोलारस के खरई रोड पर रहने वाले विक्रम राजावत ने कोलारस तहसीलदार ज्योति लक्षकार पर मुरम से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली को छोड़ने के एवज में ₹30000 रिश्वत लेने का आरोप लगाया था।  विक्रम ने इस मामले में पेट्रोल पंप सहित बाजार के सीसी फुटेज भी उपलब्ध कराए थे जिसमें तहसीलदार का वाहन और मुरम से भरा ट्रैक्टर ट्रॉली दोनों दिखाई दे रहे हैं.पीड़ित ने इसकी शिकायत कोलारस एसडीएम सहित बीजेपी नेता हरिओम रघुवंशी को दर्ज कराई थी। जिसके बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया था। बीजेपी नेता हरिओम रघुवंशी ने इसकी शिकायत प्रभारी मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया से की जिसके बाद मंत्री ने कोलारस तहसीलदार को सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं. उन्होंने तहसीलदार रिश्वतखोरी मामले की जांच सक्षम अधिकारी से कराने की बात भी कही है।