कलेक्टर के पैरों में गिरकर किसान ने लगाई मदद की गुहार, मंत्री बोले- मामले की होगी जांच

The-farmer's-help-dropped-down-in-the-foot-of-the-collector

शिवपुरी/भोपाल।

मध्यप्रदेश के शिवपुरी में किसान द्वारा कलेक्टर के पैरों में गिरकर गुहार लगाने के मामले में सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने गंभीरता दिखाई है। मंत्री सिंह ने इस मामले में जांच की बात कही है। बताते चले कि शनिवार को शिवपुरी के कोलारस में एक किसान ने कलेक्टर ऑफिस पहुंचकर कलेक्टर के पैरों में गिरकर मदद की गुहार लगाई थी और कलेक्टर ने इस पर अधिकारी को भेजकर जांच कराने की बात कही थी।

         दरअसल, शनिवार को जिलें के कोलारस तहसील के अंतर्गत रन्नोद इलाके का किसान अजीत अपनी गुहार लेकर कलेक्टर ऑफिस पहुंचा लेकिन अपनी बात जिले की मुखिया तक नहीं पहुंचा पाया। तकरीबन 2 घंटे के इंतजार के बाद जब कलेक्टर घर जाने के लिए निकली तब किसान उनके पैरों में गिरकर मदद की गुहार लगाने लगा। किसान ने कलेक्टर को बताया कि  खेत के पास ट्रांसफार्मर की व्यवस्था नहीं होने पर उसने क्षेत्र के सुपरवाइजर को ट्रांसफार्मर रखने  के लिए करीब 6 महीने पहले पैसे दिए थे, लेकिन अभी तक सुपरवाइजर ने ट्रांसफार्मर नहीं रखा , जिसकी वजह से फसल सूखने की कगार पर है।

किसान ने चिंता जताते हुए कहा कि अगर फसल बर्बाद हुई को जीवनापन करना भी उसके लिए दुभर हो जाएगा। किसान ने बताया कि वह मदद की गुहार लेकर जिले के कई अधिकारियों के पास गया लेकिन कोई सुनवाई नही हुई। इस दौरान कलेक्टर ने किसान को आश्वसन देते हुए कहा कि अभी यहीं बैठो, तुम्हारे साथ अधिकारी को भेजकर मामले की जांच कराते हैं।वही इस मामले पर एक्शन लेते हुए सहकारिता मंत्री के जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

मंत्री ने कही कार्रवाई की बात

वही शिवपुरी में कलेक्टर के चरणों में किसान के पड़े़े होने के मामले पर गोविंद सिंह ने कहा कि मैं पूरे मामले में जानकारी लेकर उचित कार्रवाई करूंगा। अगर कलेक्टर गलत है तो इस पूरे मामले की जांच की जाएगी । किसान की हर संभव मदद की जाएगी । शिवराज सरकार की तरह कांग्रेस की सरकार में नौकरशाह हावी नहीं रहेंगें। सभी नौकरशाहों पर कमलनाथ ने लगाम कस दी है।