अवधेशानंद गिरी महराज ने पूर्व केन्द्री मंत्री कुवर अर्जुन सिंह की प्रतिमा का अनावरण किया

Arhun-singh-statue-inauguration

सीधी।

राव घराने कुलगुरू रहे महामण्डलेश्वर अवधेशानंद जी द्वारा प्रतिमा अनावरण के बाद राव तलाव समाधि स्थल पहुंचे जहा पुष्पांजलि के बाद स्वर्गीय कुमार साहब अर्जुन सिंह के साथ रहे उनके संबंधों के बारे में चर्चा करते हुए लोगों को बताया कि एक बार मैंने उन्हें दाऊ कह कर पुकारा था तो उन्होंने मुझे मना करके कहा कि मुझे दी मत कहा करिए लेकिन मैंने कहा यह मेरे हृदय के निकले हुए शब्द हैं इसलिए मुझे दाऊ कहने में बहुत प्रसंता होती है और मैं हमेशा उन्हें दाऊ ही कहता रहा संक्षिप्त कथा में उन्होंने लोगों को बताया कि जब कोई पुरुष अपनी आत्मशक्ति अपना पौरुष तथा आत्म बल खो चुका हो तो उसे अपने पूर्वजों को याद करना चाहिए।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल के बारे में कहते हुए उन्होंने कहा कि उनका हृदय एक बच्चे के समान है कार्यक्रम के दौरान एक और बात हुई जब पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने स्वामी जी के माल्यार्पण किया तब स्वामी जी ने उस मालिक को अजय सिंह के ही गले में डालकर उन्हें बिजली रूपी आशीर्वाद दिया स्वामी जी ने कहा कि जब कोई मुझे माला अर्पित करता है वह वह पुष्पमाला मैं स्वीकार नहीं करता हूं वह भले मेरे हाथों और गले तक पहुंच जाती है लेकिन उसे मैं भगवान को अर्पित कर देता हूं और यह जो माला अजय सिंह को मैंने बनाया है यह निश्चित रूप से इनके आगे का भविष्य उज्जवल और विजई होगा साथ ही उन्होंने कहा कि आज तक 12 आयोजन भागवत कथा के केवल अजय सिंह राहुल के माध्यम से ही हो सके हैं

– अवधेशानंद गिरी महराज द्वारा पूर्व केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री कुवर अर्जुन सिंह की प्रतिमा का अनावरण किया गया।।