विकास दुबे को भाजपा सरकार ने शरण देकर मध्यप्रदेश को बदनाम कर दिया : अजय सिंह

सीधी। पंकज सिंह| कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी कुख्यात विकास दुबे (Vikas Dubey) को उज्जैन (Ujjain) के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया है। इधर विकास की गिरफ्तारी पर कांग्रेस (Congress) ने सवाल उठाये हैं| पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह (Ajay Singh) ने कहा है कि उत्तरप्रदेश के जघन्य, क्रूर और आठ पुलिस कर्मियों को जान से मारने वाले अपराधी विकास दुबे को भाजपा सरकार ने शरण देकर पूरे देश में मध्यप्रदेश को बदनाम कर दिया| उन्होंने कहा कि भाजपा ने पिछले 15 साल में प्रदेश को हर बुरे काम में अव्वल रखने की जो ख्याति प्राप्त की थी, विकास दुबे के मामले से अब वह शुरुआत हो गई है|

श्री सिंह ने कहा कि विकास दुबे 300 किलोमीटर मध्यप्रदेश में चलता रहा तब उसे किसी टोल नाके, पुलिस चौकसी में नहीं पकड़ा गया| वह पकड़ा गया महाकाल के मंदिर में जहां वह चिल्ला चिल्लाकर खुद कह रहा था कि वह विकास दुबे है| उन्होने कहा कि महाकाल दर्शन की जब रसीद कटवा रहा था तब आई0 डी0 प्रूफ की आवश्यकता होती है तब भी उसे नहीं पहचाना गया| श्री सिंह ने कहा कि प्रथम द्रष्ट्या कोई पाँचवी कक्षा का बालक इस घटना को देखकर बता देगा कि यह मध्यप्रदेश में आमंत्रित किया गया अपराधी था जिसे एक कहानी गढ़कर बचाने के लिए मध्यप्रदेश के कुख्यात भाजपा नेताओं और मंत्रियों ने शरण दी|

अजय सिंह ने कहा कि व्यापम, बलात्कार, बेरोजगारी, किसानों की आत्महत्या, अवैध रेत उत्खनन में तो हमारा भाजपा राज्य में देश में प्रथम था| अब अपराधियों को शरण देने और उन्हें बचाने में भी पहला राज्य का खिताब मिल गया लेकिन प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता का सिर इससे शर्म से झुक गया | भाजपा को बधाई |