CM का आदेश भी रहा बेअसर, 3 माह से 300 से अधिक होमगार्ड को नहीं मिला वेतन

भोपाल/सीधी। कमलनाथ सरकार ने दीपावली से पहले राज्यकर्मचारियों को वेतन भुगतान करने का निर्देश दिये थे। लेकिन सीधी जिले में पदस्थ्य होम गार्ड नगर सौनिकों का वेतन के लाले पड़े हुये हैं। जिसकी वजह से इनके परिवार वालों के लिए दिवाली तो फीकी पड़ गयी। गुज़र बसर करना भी मुश्किल हो रहा है। सीधी जिले होम गार्ड में पदस्थ्य तीन सौ से अधिक नगर सौनिकों को वेतन के नाम पर पिछले तीन महीने भर में अबतक सिर्फ अगस्त महीने में सिर्फ सात का वेतन दिया गया था। जो महाराष्ट्र चुनाव में ड्यूटी के खर्च के लिए दिया गया था। 

सामने दीपावली का त्यौहार है सरकार अपने ओर से कर्मचारियों को वेतन भुगतान करने का निर्देश पहले अधिकारोयों को दे दिया है। लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही और विभागी बजट की हेर फेर से नगर सैनिकों के लिये दिवाली तो फीकी है ही ऐसे में अपने परिवारजनों का भरण पौषण करने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कर्मचारियों ने बताया कि वेतन ना मिलने की वजह से परिवारजनों का भरण पोषण करने में भारी मुश्किल हो रही है लेकिन कोई जिम्मेदार अधिकारी इस ओर ध्यान नही दे रहे है,न ही सरकार दे रही है,हर में ना तो नमक है नाही हल्दी बच्चों को कपड़ा लेना है लेकिन वेतन नही मिला है जिस वजह से सब फीका है।