सिंगरौली: हवा हुए CM के निर्देश, एंटी माफिया सेल का नहीं हुआ गठन

सिंगरौली। राघवेन्द्र सिंह गहरवार।

प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बने साल भर से ऊपर का समय हो गया है। सरकार बनने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कई नई योजनाओं को बनाकर प्रदेश के सभी जिलों में उन्हें लागू कर दिया है। ऐसी ही एक योजना प्रदेश को भू माफियाओं से मुक्त कराने के लिए बनाई गई है। जिसका गठन एंटी माफिया सेल के नाम पर करना तय हुआ है।  लेकिन सिंगरौली जिले में अभी तक इस योजना को लेकर टीम का गठन तक नहीं हो पाया है। ऐसे में जिले में स्थित कई भू माफिया बेखौफ होकर अपने कार्यों को अंजाम देने में लगे हैं।

आपको बताते चलें कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अभी हाल ही में प्रदेश को भू माफियाओं  के चंगुल से मुक्त कराने के लिए एंटी माफिया सेल के नाम से एक दल का गठन किया है। जो जिला स्तर पर कलेक्टर द्वारा गठित की जानी है। जिसका मुख्य उद्देश्य जिले में रसूख के दम पर किए गए अतिक्रमण को नेस्तनाबूद करना है, लेकिन इसे सिंगरौली जिला प्रशासन की उदासीनता ही मानेंगे जिसकी वजह से आज तक जिले में एंटी माफिया सेल का गठन नहीं हो पाया है। इस संबंध में जब प्रशासनिक अधिकारियों से चर्चा की गई तो उन्होंने जवाब ने बताया की टीम का गठन अभी तक नहीं हो पाया है, लेकिन स्थानीय स्तर पर उपखंड अधिकारी एवं तहसीलदार द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में जगहों को चिन्हित करने का काम किया जा रहा है जल्द ही कलेक्टर महोदय द्वारा इस संबंध में कड़ी कार्यवाहीया की जाएगी।।

मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में फैला माफियाओं का जाल

सिंगरौली जिले में एंटी माफिया सेल का गठन सबसे ज्यादा आवश्यक है क्योंकि सिंगरौली जिले में कई ऐसी मोटी मछलियां हैं जो अपने रसूख के दम पर सर्वजन हिताय संपत्तियों पर अतिक्रमण किए हुए हैं फिर चाहे वह शहर के नामी होटल संचालक हो या फिर बिजनेसमैन इसका खुलासा तो टीम के कार्य प्रारंभ करने के बाद होगा फिलहाल सबसे ज्यादा आवश्यकता जिले में टीम के गठन का है।