रिलायंस ऐश डैम हादसे के सातवें दिन दो मासूमों के शव बरामद, प्रबंधन पर अब तक कोई कानूनी कार्रवाई नहीं

196

सिंगरौली/राघवेन्द्र सिंह गहरवार

बीते शुक्रवार सिंगरौली जिले के सासन स्थित रिलायंस ऐश डाइक डैम हादसे के सातवें दिन दो मासूमों के शव बरामद किये गए हैं। बड़े क्षेत्र में फैले मलबे में प्रतिदिन जारी रखे गए सर्च ऑपरेशन के बाद पुलिस को ये शव बरामद हुए। अभी भी पीसी ऑपरेटर रज्जाक अली की तलाश जारी है। गुरुवार सुबह करीब 11 बजे एन डी आर एफ को सिद्धिकला क्षेत्र से 10 वर्षीय बालिका सीमा कुमारी पिता भैयाराम शाह एवं गिद्दाखाड़ी क्षेत्र से 2 वर्षीय मासूम का शव बरामद किया गया।

बता दें कि घटना के बाद से ही मलबे में दबे लोगों को निकालने के लिए सिंगरौली पुलिस द्वारा एनडीआरएफ टीम के साथ बड़े स्तर पर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है, जिस बीच कई किलोमीटर में फैली राख के मलबे से सप्ताह भर में 5 लोगों का शव बरामद कर लिया गया है।

सप्ताह भर बाद भी रिलायंस कंपनी प्रबंधन के लोगों पर नहीं हुई कार्रवाई

जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रतिदिन राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा की जा रही है। प्रशासन द्वारा रिलायंस प्रबंधन की तरफ से पीड़ित परिवारो को 58 लाख की राशि प्रदान कर जख्मों पर मरहम लगाने का प्रयास किया गया है लेकिन घटना के 7 दिन बीत जाने पर भी प्रबंधन के लोगों पर अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। इस कारण स्थानीय लोगों समेत कई नेताओं में आक्रोश व्याप्त है। हालांकि कलेक्टर द्वारा घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश देकर 45 दिन के अंदर रिपोर्ट तलब कर अपना दायित्व पूरा करने की कोशिश की गई है, लेकिन कंपनी प्रबंधन पर अब तक मुकदमा दर्ज न होने से आम नागरिक में आक्रोश व्याप्त है। वहीं हर एक के पास एक ही सवाल है कि क्या कानून सिर्फ बेबस लाचार असहाय लोगो के लिए बना है बड़े लोगो पर यह कानून लागू नही होता क्योकि अगर आम नागरिक से छोटी से भी गलती हो जाए तो उसे सलाखों के पीछे भेज दिया जाता है लेकिन बड़े और पहुंच वाले लोगों पर इतने दिन बीत जाने पर भी कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here