सिंगरौली/जयंत। राघवेन्द्र सिंह गहरवार।

सिंगरौली जिले के विन्ध्यनगर थाना जयंत चौकी अंर्तगत दुद्दीचुआ में भीषण सड़क हादसा में गजेन्द्र शाह निवासी जददुडाड़ थाना मोरवा की घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। गजेन्द्र शाह की जमीन आज से सालों पहले NCL द्वारा अधिग्रहित किया गया था। जिसके कारण सात वर्ष से विस्थापित गजेंद्र शाह नौकरी के लिए 7  NCL की चक्कर लगा रहा था।

NCL प्रबंधन द्वारा विस्थापितो को मुआवजा और नौकरी देने में आना कानी कर रहा था। आज भी गजेंद्र शाह NCL दुद्दीचुआ में अपना नौकरी के लिए पेपर देने आया था और पेपर देकर घर की तरफ लौट रहा था तभी तेज रफ्तार में आ रही NCL की वाटर टैंकर ने 2 पहिया चालक गजेंद्र शाह को रौंदते हुए निकल गई वही प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो गजेंद्र को NCL की वाटर टैंकर कुछ दूर तक घसीटते हुए ले गया जिससे घटनास्थल पर ही गजेंद्र शाह की मौत हो गई अब यहाँ सवाल ये खड़ा होता है लोगो की जमीन जबरजस्ती अधिग्रहण करने के बाद भी ये कंपनी वाले उनके जमीन का उनका हक नही देते जिसके कारण विस्थापित अपने हक को पाने के लिए कम्पनियों के चक्कर लगाते लगाते दम तोड़ देते हैं।

जयंत चौकी अंर्तगत दुद्दीचुआ NCL के वाटर टैंकर से कुचलने से गजेंद्र शाह की हुई मौत पर एटक यूनियन के प्रदेश सचिव कामरेड संजय नामदेव ने NCL प्रबंधन पर हत्या का आरोप लगाते हुए कहा है कि NCL प्रबंधन द्वारा जानबूझकर हत्या करवाई गई है इसकी उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए वरना एटक NCL के खिलाफ आंदोलन करने के लिए बाध्य होगी।