महिला सरपंच पर शांति पूर्ण धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों पर हमले का आरोप

singrauli-news

सिंगरौली//राघवेन्द्र सिंह

बरगवां दिनांक 05/05/2019 को अवैध वसूली में भ्रष्टाचार के खिलाफ शिवसैनिक संगठन ठोको मध्य प्रदेश व ऊर्जांचल विस्थापित कामगार यूनियन एटक जिला सिंगरौली के सँयुक्त तत्वाधान में में बरगवां के सब्जी मंडी के पास शांति रूप से धरना प्रदर्शन चल रहा था |

काम. संजय नामदेव ने आरोप लगाते हुये कहा की दिनांक 05/05/19 को शाम लगभग 5:45 पर बरगवां सरपंच – ललिता सिंह समेत लगभग डेढ़ दर्जन महिलाओ ने धरना प्रर्दशन स्थल पर आकर बिना किसी विवाद व बातचीत के धरने में बैठे लोगों पर अचानक हमला बोल दिया एवं धरने पर रखी मांग पत्र व समस्त कागजात फाड़ दिये तथा मोबाइल व पैसा सब छीन ले गये और शैलेन्द्र सिंह चौहान को सभी महिलाये मार पीट करने लगी तभी बीच मे भीड़ इकट्ठा हो गयी जिसे अलग किया इतने बरगवां पुलिस पहुँची, जिसकी शिकायत 5 मई को शाम लगभग 06:00 बजे बरगवां थाना में की है,

शांति पूर्ण धरना प्रदर्शनकारियो पर हमला करना इससे तो यह साफ जाहिर होता है कि की बरगवां सरपंच की तानाशाही इस कदर बढ़ गई है कि उनके द्वारा किए गए भ्रष्टाचार के खिलाफ अगर कोई आवाज उठाए तो उस आवाज को दबाने के लिए वह किसी हद तक भी जा सकती है वही आपको बता दें कि इस मामले को लेकर धरना प्रदर्शनकारियों ने बरगवां थाने में एफ आई आर दर्ज करवाया लेकिन बरगवां पुलिस कार्यवाही करने के बजाय टालमटोल कर घटना पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है या यह कहें कि बरगवां पुलिस द्वारा आरोपियों को बचाने का काम किया जा रहा है वही कामरेड संजय नामदेव ने कहा कि लोकतंत्र में भ्रष्टाचार अवैध वसूली अन्याय  के खिलाफ आवाज उठाने का सबको अधिकार है हम लोग भी अवैध वसूली भ्रष्टाचार के खिलाफ शांतिपूर्ण तरीके से धरना प्रदर्शन कर रहे थे और बरगवां सरपंच के द्वारा अन्य महिलाओं के साथ मिलकर मारपीट करना ,कागजात फाड़ना ,धरना स्थल से हटवाना साफ साफ सरपंच की तानाशाही दिखाई दे रही है और बरगवां सरपंच द्वारा यैसा कृत्य लोकतंत्र की हत्या मानी जाएगी उन्होंने कहा कि अगर कोई भ्रष्टाचार और अवैध अतिक्रमण नहीं था तो फिर क्यों सरपंच और अपने समर्थकों के साथ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर धावा बोली इससे साफ जाहिर होता है कि सब्जी मंडी में लोगों से जबरन अवैध वसूली किया जा रहा है वही सब्जी मंडी में बनाए हुए दुकानों को ऊंची दामों पर दूसरे और बाहरी लोगों को बेचने का काम सरपंच द्वारा किया गया है