सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। जिले के जयंत चौकी की पुलिस मध्यप्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान व जिला प्रशासन की मंशा पर पानी-फेरते नजर आ रही है।

CM ने अवैध कारोबार(Illegal Business)  को जड़ से खत्म करने और अवैध कारोबारियों पर कार्यवाही की बात कही थी। वहीं जिला प्रशासन(District Authority) और पुलिस के आलाधिकारियों ने भी लगातार क्षेत्र में अवैध कारोबार पर शिकंजा कसने का निर्देश सभी थाने और चौकियों को दिया था। इसके बावजूद सिंगरौली जिले के जयंत चौकी प्रभारी पर प्रदेश के मुखिया व पुलिस कप्तान के निर्देशों का कोई असर दिखाई नहीं दे रहा है। दरअसल, जयंत चौकी के बगल से दिन के उजाले में ही धड़ल्ले से बोल्डर का अवैध परिवहन हो रहा है। वहीं सूत्र कहते है कि क्षेत्र में अवैध कारोबार चौकी प्रभारी के सह पर संचालित है। जिसकी देख-रेख का जिम्मा चौकी के दो कारखास लोगों के हाथ में हैं।

ये भी पढ़े- Crime News: नाबालिग बच्ची से छेड़छाड़ करना पड़ा महंगा, परिजनों ने की युवक की पीट-पीट कर हत्या

बता दें कि जब क्षेत्र में अवैध बोल्डर की सूचना जयंत चौकी प्रभारी को दी जाती है तो उनका जवाब होता है कि अवैध बोल्डर,रेत पकड़ने या रोकने का काम मेरा नहीं है। ये सब माइनिंग (Mining) का काम है।

चौकी प्रभारी जयंत के इस तरह की बाते सुनकर ऐसा लगता है जैसे क्षेत्र में अवैध कारोबार को संरक्षण जयंत पुलिस दे रही हो। वैसे भी जयंत पुलिस आए दिन अपने कारनामों के लिए चर्चा में रहता है। क्षेत्र में चाहे अवैध डीजल की बात हो या अवैध कबाड़ व कोयले की, हमेशा मीडिया (Media) की सुर्खियों में जयंत पुलिस रहती है।

ये भी पढ़े- Indore News: दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा भाजपा सरकार नहीं चलाती बल्कि व्यवसाय करती है