पत्रकार ने स्वयं ही रचा डाला अपने अपहरण का षड्यंत्र, माड़ा पुलिस ने महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर की कार्रवाई

पुलिस को कर रहा था गुमराह,परिवार सहित अन्य लोग भी मामले थे शामिल

सिंगरौली,राघवेन्द्र सिंह गहरवार। मध्यप्रदेश के सिंगरौली (singrauli) जिले में हाल ही में एक कथित पत्रकार ने खुद के अपहरण का षड्यंत्र रच पुलिस को गुमराह कर रहा था। पत्रकार के गायब होने से जिले में यह खबर आग की तरफ फैल गई थी, जिसको लेकर राजनीतिक पार्टीयों सहित तथाकथित पत्रकार के साथी सोशल मीडिया पर पुलिस की कार्यवाही पर सवाल खड़ा कर रहे थे।

यह भी पढ़े…I&B मंत्रालय ने जारी की सलाह, ऑनलाइन सट्टेबाजी के विज्ञापनों पर लगाई पाबंदी

आपको बता दे कि सूचनाकर्ता रामलल्लू शाह पिता रामदुलारे शाह उम्र 47 वर्ष निवासी असनी थाना माड़ा में सूचना दी, कि उसका लड़का शारदा प्रसाद शाह उम्र 21 वर्ष बिना बताये घर से कही चला गया है। सूचना पर माड़ा पुलिस ने मर्ग कायम कर तथाकथित पत्रकार के तलाश के लिए एसडीओपी मोरवा राजीव पाठक के नेतृत्व में टीम गठित कर व सूचना तंत्र सक्रिय कर मामले की पड़ताल शुरू की तो मामले में एक चौका देने वाला मामले खुलकर सामने आया की अपने ही गुमसुदा का षड्यंत्र रचने वाला पत्रकार शारदा शाह ने अपने ही गांव के ही एक युवक सुनील शाह का वीडियो बनाकर उसे पैसे के लिए ब्लैकमेल कर रहा था जब ब्लैकमेलिंग से बात नही बनी तो तथाकथित पत्रकार सुनील शाह को फसाने व पुलिस को गुमराह करने के लिए खुद के अपहरण की साजिश रच डाली उसके इस साजिश में उसके माता पिता सहित अन्य साथीगण उसके इस मामले में सहयोगी रहे।

यह भी पढ़े…IPL Media Rights Auction LIVE: 44 हजार करोड़ में बिका IPL, जाने किसने मारा दाँव

वही पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि शारदा शाह बरगवां से जबलपुर उसके बाद जबलपुर से पुणे (महाराष्ट्र) में अपने मित्र के यहाँ रुका हुआ था।वही जब पुलिस ने मामले में अपनी जांच तेज की तो पता चला कि शारदा प्रसाद शाह ऑडियो व वीडियो के माध्यम से क्षेत्र के अन्य लोगो को ब्लैकमेल किया करता था।माड़ा पुलिस ने अपहरण की साजिश रचकर पुलिस को परेशान करने वाले तथाकथित पत्रकार के विरुद्ध धारा 388,389 भादवि पंजीबद्ध कर कार्यवाही की जा रही है।वही सिंगरौली पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि मामले में जो लोग शामिल थे उनके विरुद्ध भी पुलिस जांच उपरांत कार्यवाही करेगी

यह भी पढ़े…National Herald Case : कार्यकर्ताओं की भीड़ के साथ ED दफ्तर पहुंचे राहुल, पुलिस ने रोका, पूछताछ जारी, भाजपा का तंज

उक्त कार्यवाही माड़ा थानाप्रभारी नागेन्द्र प्रताप सिंह,उपनिरीक्षक सूरज सिंह,जितेन्द्र भदौरिया,प्रधान आरक्षक अमित जायसवाल,उमेश विश्वकर्मा,आरक्षक राहुल सिंह,पुष्कर पोरवाल,सोवाल वर्मा,दीपक परस्ते आरक्षक चालक प्रमीस झीले की सराहनीय भूमिका रही।